बैरिया मे लागत कचरा स बिजली बनेबाक संयंत्र

रोशन होएत पटनाक 50 हज़ार घर
10 मेगावाट बिजली क होएत उत्पादन

पटना/ नई दिल्‍ली ।आब कचरा स बनल बिजली स राजधानी क 50 हज़ार घरक बत्ती जडत। एही लेल कचरा स बिजली बनेबाक योजना क जल्दिये जमीन पर उतारल जाएत। नगर निगम एही योजना कए अमलीजामा पहिरेबा लेल तैयारी शुरू क देलक अछि। नगर निगम बोर्ड स सैधांतिक सहमति सेहो भेट गेल छल। एही लेल बैरिया वा रामाचक मे जमीन क अधिग्रहण भ चुकल अछि। एही क तहत डोर-टू-डोर कचरा उठाउल जाएत। एकर अलावा एकरा स कम्पोस्ट निर्माण क सेहो मंजूरी भेट गेल अछि।
जेना कि इ’समाद पहिने बता चुकल अछि जे शहर मे रोज निकले बला एक हज़ार मीट्रिक टन कचरा स रोज करीब 10 मेगावाट बिजली क उत्पादन प्रस्‍तावित अछि, जाही स 50 हज़ार घर जगमगाएत। कचरा स बिजली बनेबाक जिम्मेदारी सेहो गठित सरकारी एजेंसी कए देल जाएत।
जानकारी क अनुसार कचरा स स्टेट ग्रीड क प्रति घंटा करीब साढ़े आठ हज़ार यूनिट बिजली क आपूर्ति भ सकत। एही हिसाब स रोज करीब ढाई लाख यूनिट बिजली भेटत। एकटा अनुमान क मुताबिक बिजलीक औसत उपयोग करय बला करीब 50 हज़ार घर कए रोज बिजली भेटत। एही क अलावा किसान कए सेहो एही कचरा स लाभ भेटत। बिजली क संग कम्पोस्ट सेहो बनाओल जाएत। जाही स रोज करीब 175 मेट्रिक टन कम्पोस्ट क उत्पादन होएत। जानकारक अनुसार करीब एक एकड़ जमीनक लेल हरेक साल चार सौ किलो कम्पोस्ट क जरुरत होएत अछि।
दोसर दिस एहि योजनाक लाभ पटना शहर कए गंदगी स मुक्‍त करबा मे भेटत। पटना स रोज निकलय बला एक हज़ार मेट्रिक टन कचरा क कारण शहर मे कूड़ा क पहाड़ बनबाक खतरा मंडरा रहल छल, ज्‍यों एही कचराक उपयोग नहि कैल जाएत त किछु दिन मे एकर स्थिति आओरो भयावह भ जाएत। आब जखन एकर ठोस प्रबंधन स बिजली आ कम्पोस्ट बनेबाक योजना तैयार अछि त एही स किछु रहत भेटत।
ज्ञात हुए जे दिल्ली, हरियाणा आ सोनीपत मे पहिने स कचरा स बिजली बनेबाक प्लांट लागल अछि, आ ई प्लांट सफल सेहो अछि। एहि ठाम रोज 12 स 15 मेगावाट बिजली क उत्पादन कैल जाएत अछि। संगहि कम्पोस्ट निर्माण सेहो होएत अछि।

maithili news, mithila news, bihar news, latest bihar news, latest mithila news, latest maithili news, maithili newspaper, darbhanga, patna

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments