गौस पर धौंस जमेबा लेल राबडी पहुंचलथि परिषद

पटना । पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी विधान परिषद क सदस्य बनबा लेल तैयार छथि। 11 अप्रैल कए ओ अपन परचा दाखिल करतथि। राबडी क उम्‍मीदवारी क संगहि इ चर्चा जोर स भ रहल अछि जे पूर्व मुख्‍यमंत्री विधान परिषद मे किया जा रहल छथि। विभिन्‍न राजनीतिक जानकार एकटा महज एकटा सदस्‍यक उम्‍मीदबारी मानबा लेल तैयार नहि छथि। अधिकतर जानकारक कहब अछि जे ओ विधान परिषद मे विपक्ष क नेता बनबाक जुगार लगा लेलथि अछि। एखन राजद क प्रो. गुलाम गौस विधान परिषद मे विपक्ष क नेता छथि, मुदा राबडी गौस पर धौंस जमेबा लेल जमीन तैयार क रहल छथि। राबड़ी देवी क परिषद सदस्य बनलाक बाद गौस लेल इ पद पर बनल रहब कठिन अछि। बिहार विधानसभा मे अब्दुलबारी सिद्दिकी विपक्ष क नेता एहि कारण भ गेलाह जे राबडी आ पारस दूनू नेता कए जनता सदन नहि पठेलक। श्री सिद्दीकी कए विपक्ष क नेता बनेबा काल राजद दिस स कोनो खास पहल सेहो नहि कैल गेल। हां, राजद क एकटा खेमा त विरोध तक क देलक आ माय समीकरण क आधार पर सुरेंद्र प्रसाद यादव क नाम प्रस्‍तावित क देलक। मुदा राजद मजबूर छल बिना भाजपा-जदयू क सहमति कए ओ ककरो विधानसभा मे विपक्षक नेता नहि बना सकैत छल। किया कि सदस्य संख्या क हिसाब स विधानसभा मे कोनो दल मुख्य विपक्षी दल क दर्जा लेबा लेल हैसियत नहि रखैत छल। 243 सदस्यीय विधानसभा मे राजद क केवल 22टा सदस्य अछि। इ 10 म हिस्सा स तीन कम अछि। एहन मे मुख्य विपक्षी दल लेल सदन क कुल सदस्‍य क 10म हिस्सा ककरो लग नहि छल। राजद कए बुझल छल जे जनता त हैसियत ल चुकल अछि ताहि लेल सरकार क रहमोकरम पर मुख्य विपक्षी दल क दर्जा भेट सकैत अछि। एहन मे श्री सिद्दिकी क व्यक्तित्व जनता मे स्‍वीकार्य छल आ सरकार सेहो हुनका कानून कए शिथिल क विपक्ष क नेता क दर्जा द देलक। इ सरकारी पहल क असर छल जे लोकलेखा समिति क सभापतित्व राजद क ललित कुमार यादव कए भेटल, जखन कि राजद सुप्रीमो एहि पद लेल राघवेंद्र प्रताप सिंह कए चुनाव केने छलाह।
देखल जाए त राजद लग संख्‍या बल एखनो नहि अछि, मुदा जनता स आंखि बचा ओ एक बेर फेर परिवारवाद कए आगू बढेबाक कोशिश शुरू कैल जा रहल अछि। जाहि परिवारवाद कए बिहारक जनता खारिज क चुकल अछि आ सरकार कए मजबूर क अब्दुलबारी सिद्दिकी आ गुलाम गौस सन नेता कए विपक्षक नेता स्‍वीकार करबेने अछि, राजद एक बेर फेर जनताक मर्जीक खिलाफ नेता थोपबाक प्रयास मे अछि। राबड़ी देवी कए विधान परिषद मे पठेबाक राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद क मंशा साफ अछि ओ हुनका विपक्ष क नेता बनेबाक फिराक मे छथि। एकरा लेल ओ एक बेर फेर माय समीकरण क राग अलापि सकैत छथि। ज्ञात हुए जे विपक्ष क नेता कए कैबिनेट मंत्री क दर्जा आ सुविधा भेटैत अछि आ लालू-राबडी अपना रहैत बिहार मे अपन दलक कोनो आन नेता कए इ सुविधा लैत कोना देखि सकैत छथि।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments