आब होइए 35 घंटा क दिन राति मधुबनी सदर अस्पताल मे

मधुबनी। पृथ्वी पर सब ठाम दिन राति २४ घंटा के होइत अछि परंतु मधुबनी सदर अस्पताल मे ३५ घंटा के दिन रात्रि होयबाक चमत्कार भेल अछि।
महालेखा परीक्षक रिपोर्ट अनुसार २०१२ के अप्रैल माह मे २४ घंटा के हिसाब से कुल ७२० घंटा जेनरेटर चलबाक चाही जे आई सी यू आ सदर अस्पताल मे८७४ घंटा विजली हेतु जेनरेटर चलल। अर्थात ११४ घंटा अधिक जेनरेटर चलल जेकर हिसाबे २७.८ घंटा के दिनराति भेल।
२०१२ के सितम्बर माह में विजली आ जेनरेटर के मिला के कुल १०६७ घंटा के सेवा देल गेल। सितंबर सेहो ३० दिन की होइए जाहि में ७२० घंटा हेतै ।एहि तरहें ३४७ घंटा अधिक , दिन-रात्रि ३५ घंटा क। एहि तथ्य सब हक आधार पर महालेखाकार अप्रैल २०१२ से अक्टूबर २०१२   तक १७४५ घंटा के भुगतान के फर्जी मानलैथ अछि। कुल दूं लाख तिरानवे हजार करोड़ फर्जी भुगतान मानल गेल अछि। विजली विभाग के कथन द्रष्टब्य अछि जे अस्पताल के प्राथमिकता दैत विजली आपूर्ति निरंतर कयल जाइए।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments