देश मे पहिल बेर बिहार मे किसान कए भेटत कृषि अग्रिम अनुदान

रामबाबू
पटना ।   देशमे पहिल बेर बिहारमे कृषि अग्रिम अनुदान योजना केर शुरुआत भेल। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटनामे आयोजित कार्यक्रममे अहि योजनाक शुरुआत करैत बजलाह कि सरकार कृषि के’ क्षेत्रमे इंद्रधनुषी क्रांति आन’ चाहैत अछि। अहि योजनाक मादे प्रथम चरणमे राज्यकें चारि टा जिला समस्तीपुर, नालंदा, पटना आऔर वैशाली के’ 20,173 किसान सभकें जैविक तरकारी पैदावार हेतु कृषि अग्रिम अनुदान के’ माध्यम सँ ओकरा  बैंक खातामे 6,000 रुपए राज्य सरकार द्वारा जमा करा देल गेल अछि।
मुख्यमंत्री बजलाह कि किसान सभकेँ भेट रहल अनुदान राशिकें भविष्यमे बढ़ाओल जाएत। ओ कहलनि “तेसर कृषि रोडमैपक योजनाक अनुरूप द्रुतगति सँ काज शुरू कS देल गेल अछि। कृषि क्षेत्रमे  विकास हेतु वर्ष 2008-12 मे पहिल कृषि रोडमैप बनाओल गेल छल। 2005 सँ जहिया हम बिहारक सत्ता सम्हारलहूँ तहिये सँ निरंतर सभ क्षेत्रमे विकासक काज हम शुरू कएलहुँ।
ओ कहलनि “हरित क्रांति, श्वेत क्रांति, नीली क्रांतिकें बात त’ सभ करैत रहैत अछि, हम कृषि क्षेत्रमे विकासक हेतु इंद्रधनुषी क्रांति आऔर सप्तक्रांतिक बात बजलहुँ आऔर अहि दिशामे काज सेहो शुरू कएलहुँ.” मुख्यमंत्री कहलनि, “तरकारी पैदावारमे बिहार तेसर स्थान पर अछि, मुदा एतय एखन अहि क्षेत्रमे बेसी संभावना अछि। ओ दावा कएलक कि तरकारी पैदावारक सन्दर्भमे बिहार जल्दिए दोसर स्थान पर पहुंच जाएत आऔर हमर लक्ष्य अछि जे अहि क्षेत्रमे बिहार पहिल स्थान पर पहुँचय”
ओ कहलनि, “गंगाक अविरलता आऔर निर्मलता बनल रहय ताहि लेल हम पायलट प्रोजेक्ट केर तौर पर बिहार के’ चारि टा जिलामे गंगाक दुनु कछेर सभकें जैविक खेती सँ तरकारी पैदावार हेतु चुनल गेल अछि। जैविक कॉरिडोर मे कुल नौ जिला अछि, जाहिमे सँ चारि जिलामे काज शुरू कS देल गेल अछि। ओ कहलनि कि बहुत अध्ययनक पश्चात ई बात सोझा आएल कि सबसँ नीक मदति किसान सभकेँ लागति समयमे सहायता राशि देबाक चाहि। अहि मौसममे अधिकतम3 0 डिसमिल जमीन बला किसान सभकेँ प्रति किसान 6000 रुपैयाक अग्रिम अनुदान जैविक तरीका सँ तरकारी पैदावार हेतु उपलब्ध कराओल गेल अछि। अगिला मौसममे सेहो उतरोतर चलैत रहत जाहिसँ  किसान प्रभावित भ’क जैविक खेती के’ तरफ आकर्षित भ सकत। कृषि विभाग केर प्रशंसा करैत बजलाह कि बिहारमे कृषि क्षेत्रमे बेस पारंगत अछि, मुदा एखन पैघ लक्ष्य धरि पहुँच’के’ अछि। अहि अवसर पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी आऔर कृषि मंत्री प्रेम कुमार सेहो उपस्थित छलाह।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments