विचार

esamaad maithili newspaper

आखिर महेश्‍वर बाबू हारि गेलाह

मिथिलेश/ प्रीतिलता मल्लिक पटना । दिल्‍ली स्थित कांग्रेस मुख्‍यालय क सामने लागल दरभंगा लेन क बोर्ड हटा देल गेल, त ककरो एकर विरोध क उम्‍मीद नहि छल। उम्‍मीदक अनुरूप विरोध सेहो नहि भेल। दरअसल कांग्रेस...

मिथिलाक विकास आ “ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर”

बाट कोनो इलाकाक लेल केतबा महत्‍वपूर्ण होइत अछि इ ककरो स नुकायल नहि अछि। मिथिला विकासक बाट ताकि रहल अछि। एहन मे मिथिलाक बीच स एकटा एहन बाट गुजरि रहल अछि जे मिथिला क...

मिथिलाक विकास लेल जमीनी लीडरशिप चाही

सत्‍यनारायण झा मिथिला आ मैथिली भाषाक विकास हवाई सर्वेक्षण सं संभव नहि छैक। मैथिली भाषा संवैधानिक अधिकार त पाबि गेल मुदा मिथिलाक सर्वांगिन विकास त’ एखन कोसो दूर अछि। मैथिलीक संवैधानिक अधिकार भेटने काजक इतिश्री...

मिथिला क सामाजिक स्थिति: एकटा समाजशास्त्रीय अवलोकन

“विकास क लेल स्ट्रैटजी (startege) क चिंतन तखन धरि उचित आ प्रभावकारी नहि भ सकैत अछि जखन धरि हम ह्रास क लक्षण, प्रवृति, समाज मे ओकर उत्पति आओर प्रभाव क कारण कए नहि बुझि...

मिथिलाक विकिलीक्स क खुलासा : साहित्यिक वर्ण-संकरता

मैथिली साहित्य मे मौलिकताक घोटाला आशीष अनचिन्‍हार मैथिली साहित्य क संग इ अजीब विडंबना रहल अछि जे एकरा अधिकतर वर्णसंकर साहित्यकार भेटल। अनुमानतः 90% मैथिली साहित्यकार सिर्फ मैथिली मे एहि लेल लिखैत छथि किया जे...
esamaad maithili newspaper

100 दिन – किछु डेग बेहतरी दिस

हिमकर श्याम कहियो एपेलबी अपन रिपोर्ट मे कहने छलाह जे सबस नीक प्रशासन क इनल-चुनल राज्य मे बिहार सेहो एकटा अछि। 1952 तक इ राज्य सबस सुशासित राज्य मे एक छल। एहि ठाम सबस पहिने...
esamaad maithili newspaper

ममता क नायककेन्द्रित सांस्कृतिक खेल

जगदीश्वर चतुर्वेदी रेलमंत्री ममता बनर्जी भाषायी सांस्कृतिक संकीर्णतावाद क खतरनाक खेल खेला रहल छथि। इ खेल राष्ट्रीय एकता क लेल खतरनाक साबित भ सकैत अछि। रेल कए राष्ट्रीय एकीकरण क प्रतीक मानल जाइत अछि। ममता...
535फॉलोवरफॉलो करें
122सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें