विचार

एखनो अछि मिथिलाक छाती पर गरल सुगौली कील क टीस

विकाश वत्सनाभ  एखनहुँ भूमंडलीकरणक एहि परिवेश मे अपन क्षेत्रीय अस्मिताक मादे हम सभ सचेष्ट छी। एहि ग्लोबल भूगोल मे अपन लोकल भूगोल तकबाक हमरा लोकनिक ई प्रवृत्ति सदिखन एहिना जागृत रहय एकर भगवत प्रार्थना करैत...

उम्मीद क दसम डेग

समदिया इसमाद अपन दसम सालक यात्रा शुरु क रहल अछि । ई यात्रा असगर इसमाद क नहि अपितु एहि यात्रा मे ओ सभ शामिल छथि‍ जे एहि स अपना कए जुड़ल महसूस करैत छथि‍,...

इत्र स बेसी सुगंध भेटल एहि सनेस मे

मो. साकेब विदेश मे नौकरी आ अपन शहर क प्रति लगाव एहन ले एहि साल दरभंगा एलहुं त अपन विधायक स भेंट करबाक इच्छा भेल। दरभंगा स लगातार चारिम बेर विधायक बनल संजय सरावगी क...

बिका गेलहू हम एक क्विंटल गहूम आ 2200 टका पर

दिनेेश मिश्र डलवा – नेपाल 21  अगस्त , 1963 जमालपुर – दरभंगा 5 अक्टूबर, 1968 भटनिया – सुपौल 14 अगस्त, 1971 बहुअरवा – सहरसाअगस्त 1980 (तारीख ताकय पड़त) हेमपुर – नवहट्टा, सहरसा , 5...

एहि बेर नहि बनत ‘एमपी०’ आ ‘एसपी०’ क सरकार !

ज्योति श्रीवास्तव वर्ष 2016 क पंचायत चुनाव क प्रक्रिया चलि रहल अछि। किछु समय बाद नव पंचायत गठित भ जायत। जिला परिषद सन कईटा संस्था क पुनर्गठन भ जायत, मुदा एहि बेर वर्ष 2011 क...

मोदी-नीतीश कए मित्रता

विधानसभा चुनाव क बाद पहिल बेर बिहार आयल मोदी; नीतीशक प्रति सकारात्मक रूख अपनौलथि‍ । एक दिस जतय मोदी नीतीश का प्रशंसा केलथि‍ । बिहारक विकास लेल नीतीश कए साधुवाद देलथि‍ । ओतहि नीतीश...

नदी कए धार स जोडने बिना मिथिलाक उद्धार नहि

गजानन मिश्र ' उं मधु! तृप्यध्वम तृप्यध्वम तृप्यध्वम' अर्थात तृप्त होऊ तृप्त होऊ तृप्त होऊ. मिथिलाक माटि पानि इयेह मधु थिक जे तृप्ति क पर्याय अछि . हिमालयी वातावरण मे बर्फीला जल सँ पूर्ण नदी नाला सँ...
430फॉलोवरफॉलो करें
58सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें