2014 तक बनि जाइत कोसी पर महासेतु

चौसा । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहला अछि जे प्राकृतिक आपदा क शिकार कोसी इलाका क पुननिर्माण क लेल हुनकर सरकार कृतसंकल्प अछि। मधेपुरा जिला क चौसा मे विजय घाट पर 367 करोड़ टका स कोसी नदी पर प्रस्तावित महासेतु क शिलान्यास करबाक बाद जनसभा कए संबोधित करैत नीतीश कहला जे कोसी नदी पर पहिल पुल क शिलान्यास तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी केने छलाह आ हमर सरकार बलुआहा घाट पर एकटा आओर पुल स्वीकृत केने अछि, जाहि पर काज तेजी स चलि रहल अछि, आइ कोसी नदी पर तेसर महासेतु क शिलान्यास करबा लेल आयल छी जे फरवरी 2014 तक बनिकए तैयार भ जाइत। मुख्यमंत्री कहला जे चारि लेनवाला एहि आरसीसी पुल क लंबाई 1840 मीटर अछि जखन कि पहुंच पथ क लंबाई 12 किमी अदि। क्रास ड्रेनेज आ गाइड बांध क निर्माण सेहो कैल जाइत। 47टा पाया वाला इ पुल मधेपुरा जिला क चौसा प्रखंड क भटगामा स शुरू होएत आ भागलपुर जिला क नवगछिया जीरोमाइल मे जा मिलत।
ओ कहला जे कोसी त्रासदी क बाद प्रधानमंत्री एकरा राष्ट्रीय आपदा घोषित केलथि आ केन्द्रीय टीम आबि कए नुकसान क आकलन केलक। मुदा केंद्र स एक टका नहि भेटल। मुदा हम हारि नहि मानब अहांक सहयोग आ आशीश स सरकार कोसी प्रक्षेत्र कए पहिने स बेहतर बनेबा लेल विश्व बैंक स 22 करोड़ डालर कर्ज ल रहल अछि।
एहि अवसर पर पथ निर्माण मंत्री डा. प्रेम कुमार कहला जे एहि पुल पर 367 करोड़ टका खर्च आउत। एहि स सहरसा, सुपौल, मधेपुरा आ भागलपुर जिला क लोक कए आसानी होएत। पुल बकन गेला स नवगछिया स मधेपुरा क दूरी 51 किमी, सहरसा आ सुपौल क दूरी 25 किमी तक कम भ जाएत। संगहि भागलपुर स पड़ोसी देश नेपाल सेहो लग भ जाएत। ज्ञात हुए जे एहि स पूर्व 13 जुलाई कए एहि पुल क शिलान्यास हेबाक छल मुदा कोनो कारणवश कार्यक्रम नहि भ सकल।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments