20,000 किमी सड़क बनल, 30,000 बनि रहल अछि

पटना। बिहार सरकार ग्रामीण इलाका मे सड़क क विकास पर खासा ध्यान द रहल अछि। प्रदेश मे विकास क गति बढेबा लेल सरकार आब ग्रामीण विकास मे कोनो कसर नहि छोड़ए चाहैत अछि। राज्य मे कुल 1,05,000 किलोमीटर ग्रामीण सड़क अछि। 88,000 किलोमीटर सड़क मे स निर्माण काज क लेल 50,000 किलोमीटर सड़क चिन्हित कैल गेल अछि। एहि मे स 20,000 किलोमीटर सड़क क निर्माण विभिन्न योजना क तहत पूर्ण भ चुकल अछि, जखकि 30,000 किलोमीटर सड़क निर्माणाधीन अछि। एकर अतिरिक्त 38,000 किलोमीटर सड़क मे स 16,500 किलोमीटर सड़क क निर्माण केंद्रीय योजनाओं स हेबाक अछि। एहि मे 4,000 किलोमीटर क विस्तृत योजना रिपोर्ट (डीपीआर) बनाकए केंद्र सरकार कए पठा देल गेल अछि। विभागक मंत्री क कहब अछि जे 21,500 किलोमीटर एहन ग्रामीण सड़क अछि जाहि पर एखनधरि ध्यान नहि देल गेल छल, ओकर निर्माण सेहो मुख्यमंत्री अवशेष सड़क योजना क तहत कराउल जा रहल अछि, जाहि स सब गाम पक्की सड़क स जुड़ि जाएत। ओ कहला जे मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना क तहत 1461 करोड़ टका खर्च करि 3349 किलोमीटर, न्यूनतम आवश्यक कार्यक्रम क तहत 992 करोड़ क लागत स 2909 किलोमीटर, आपकी सरकार कार्यक्रम क तहत 203 करोड़ खर्च करि 447 किलोमीटर, नाबार्ड योजना मे 758 करोड़ खर्च करि 1361 कलोमीटर, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना क तहत 1632 करोड़ खर्च करि 1348 किलोमीटर सड़क क निर्माण कराउल गेल अछि। सरकारक एहि दावा स लोक सेहो किछु सहमत अछि। औरंगाबाद क रामानंद सिंह आब पटना केवल दू स ढ़ाई घंटा मे पहुंच जाइत छथि, पहिने पांच घंटा लागि जाइत छल।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments

1 टिप्पणी

  1. जखन बिहारक सड़क विभागक बजट ३५०० करोड़ आ स्वास्थ्यक ५०० करोड़ टी सड़क कियैक नहि बनत
    गाडी तेज चलने दुर्घटना अधिक आ डाक्टर अस्पतालमे सुविधा कम
    सडक बनाय्मे हर स्टार पर persentagek हिसाब छैक
    बनल कतेक दिन चलत सेहो देखब
    ग्राम स्वराज्य लेल गओंमे निवेश आवश्यक छैक कच्छा माल बहार ले जाय आ पक्का माल बहार स आणि बेचे लेल तेज सडक चाही
    पंचायत चुनावमे देखू नव नव धनवान ठेकेदार्क गाडी

    डॉ धनाकर ठाकुर

Comments are closed.