हम आएल छी अहां क दरबार मे आवेदन लाउ

मधुबनी स्टेडियम । हम आएल छी अहां क दरबार मे आवेदन लाउ…..”उगना” क रूप मे मिथिलाक धरती पर आयल ”नीतिश” क इ बोल जनता दरबार मे मुख्यमंत्री कार्यक्रम क पहिल वाक्‍य छल। अपन सेवा यात्रा क तेसर दिन मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार भोर करीब दस बजे जनता क समक्ष हाथ जोडि हाजिए भेलाह। सीधा महिला दीर्घा लग पहुंचलाह आ आवेदन लेब शुरू केलथि। महिला स मैथिली मे गप शुरू केलथि। आश्‍वासन देलथि सबटा काज होएत। हमरा पर विश्‍वास अछि ने। महिला कए भरोस दैत कहला जे सरकार त भ्रष्टाचार क खिलाफ कार्रवाई क रहल अछि मुदा अहू सब जागू आ एकर विरोध करू। एहि पर प्रमिला देवी कहैत छथि- सर हमर गाम मे सड़क नहि अछि। आंगनबाड़ी केन्द्र नहि अछि। नीतीश हुनकर आवेदन लैत जिलाधिकारी संजीव हंस कए कार्यवाही करबा लेल कहलथि। फेर आगू बढैत कहला- ‘अंजनी बाबू (मानव संसाधन विभाग क प्रधान सचिव ) कल्पना क मामला देखू।’ कल्पना आरके कॉलेज मे आइएससी क छात्रा छथि। हिनकर शिकायत अछि जे कॉलेज मे पढ़ाई नहि होइत अछि। अगर एहन हालत रहल त गरीब लोक क बचा कोना पढत। किछु महिला कहलथि जे हुनकर मांग मे चारि गोटेक हत्या क देल गेल, पुलिस कोनो कार्रवाई नहि केलक। मुख्यमंत्री तुरंत दरभंगा प्रक्षेत्र क आइजी कए बजेलथि आ कहलथि- ‘गंभीर मामला अछि अविलम्ब कार्रवाई कैल जाए।’
मुख्यमंत्री एक डेग बढेने हेताह कि पाछु स आवाज आयल- भ्रष्टाचारी सब पर कार्रवाई करियउ सर। जवाब मे मुख्यमंत्री कहला- ‘कार्रवाई भ रहल अछि। सब पकडल जाएत।’ ताबत एकटा फरियादी कहलक- ‘सर शहर में पार्क नहि अछि।’ एहि पर मुख्यमंत्री डीएम स कहैत छथि- ‘देखू।’ टोला सेवकगण क फरियाद- ‘दस माह स भुगतान नहि भेटल अछि।’ फेर माइक स मुख्यमंत्री क आवाज गूंजैत अछि- ‘अंजनी बाबू देखू की मामला अछि?’ भीड़ स आवाज अबैत अछि- ‘सरिसवपाही कहिया एबै मुख्यमंत्री जी?’
एहि पर सेहो मैथिली जबाव दैत मुख्यमंत्री विधान पार्षद संजय झा क पीठ पर हाथ द कहला – ‘हिनका स गप करु।’ मुख्यमंत्री क ध्यान न्याय मित्र क आवेदन पर पडैत अछि। ओ माइक स ग्रामीण कार्य सह पंचायती राज मंत्री डा. भीम सिंह स कहैत छथि- ‘अहां सब न्याय मित्र क गप सुन लिअ।’ फौरन सरपंच क समस्या सेहो हुनका सुनबा लेल कहल जाइत अछि। फुलपरास क रामनगर पंचायत मे इंदिरा आवास क वितरण में गड़बड़ी स संबंधित आवेदन भेटला पर ओ ग्रामीण विकास मंत्री नीतीश मिश्र कए बजबैत छथि आ मामला कए देखबा लेल कहैत छथि। मंत्री श्री मिश्र ऑन द स्पॉट कार्रवाई करैत डीडीसी कए जांच क रिपोर्ट देबा लेल कहैत छथि। आवेदन जमा करबाक तीन मास बाद आय प्रमाण पत्र नहि भेटबाक शिकायत कए मुख्यमंत्री गंभीरता स लेलथि, ओ डीएम कए कहला जे सख्‍त कार्रवाई हेबाक चाही। जेपी पेंशन पर सीएम कहला- ‘जे आवेदन देने छी, हुनका जांचोपरांत पेंशन भेटत।
स्वास्थ्य विभाग स संबंधित एकटा मामला मे मुख्यमंत्री सिविल सर्जन कए बजबैत छथि। सिविल सर्जन जहिना अबैत छथि मुख्‍यमंत्री कहैत छथि- ‘अहां सुस्त रहब त लोक कोना स्वस्थ रहत। देखू बाबूबरही क संजय राम क केतना गंभीर मामला अछि। बच्चा भेल वर्ष 2010 में आ एखन धरि भुगतान नहि भेल अछि।’ फौरन स्वास्थ्य सचिव आवेदन पर गौर करैत आ सिविल सर्जन कए कार्रवाई लेल कहैत छथि। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जनता दरबार मे कुल पांच घंटा रहलाह। ओ दुपहरिया दू बजे स्टेडियम स विदा भेलाह। बहुत रास जनता अपन गप मुख्‍यमंत्री तक नहि पहुंचा सकल। मुदा जे पहुंचा सकल ओकर बस एतबे कहब छल जे बाबू काज होइ बा नहि होइ कम स कम मुख्‍यमंत्री जी हमर गप ढार भ सुनलखिन त आ कार्रवाई लेल कहबो केलखिन। आब काज त इहे पदाधिकारी सब कए करबाक छै। (इनपुट मे जागरण मे छपल रिपोर्ट क अनुदित अंश आ मिथिला न्‍यूज)

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments

2 टिप्पणी

  1. BAD NIK KAMAL NET PAR APPAN BHASA ME SAMACHAR PADHI HIRDAY JURA GEL.JAI MITHLA,JAI MAITHL,JAI MAITHILI,

Comments are closed.