हमर स्‍वभाव स विपरीत किरदार अछि कलसनवाली मामी : सुरूचि

आइ-काल्हि छोट परदा क नव कलाकार मे जे चेहरा चर्चा मे अछि ओहि मे स एकटा छथि मैथिली रंगमंचक लोकप्रिय कलाकार सुरूचि वर्मा। जी टीवी क धारावाहिक ‘भागोवाली‘ मे कलसनवाली मामी क भूमिका मे हिनका बहुत वाहवाही भेट रहल अछि। बिहार क एकटा मध्यम वर्गीय परिवार स वास्‍ता रखनिहारि पटना क मूल निवासी सुरूचि क पिता बैंक मैनेजर छथि। पटना रंगमच क अक्षरा नाट्य संस्थान स जुडल सुरुचि अदाकरा नंदिता दास आ कोंकणा सेन स खासी प्रभावित छथि आ एहि कारण स सुरूचि हिनका सबहक जीवन शैली कए अपना मे आत्मसात करबाक प्रयास क रहल छथि। जतए एक दिस पटना शहर स गिनल चुनल लड़की अभिनय क ख्वाब लकए मुंबई क रूख करैत अछि ओतहि सुरूचि न केवल मुंबई एलीह बल्कि सफलतापूर्वक अपन मंजिल क बाट पर आगू जा रहल छथि। प्रस्तुत अछि वंदना भारती स इ’समाद लेल हुनका स भेल खास गपसपक मुख्‍य अंश-

प्रश्न- अभिनय क ख्याल कोना आयल?
उत्तर- ओना त घर मे ककरो कला क प्रति कोनो झुकाव नहि छल। मैट्रिक क दौरान दीवार पर नाटकक पोस्टर देखि कए नाटक करबाक उत्सुकता भेल। यैह उत्सुकता धीरे-धीरे पैंशन बनल आ बाद मे कैरियर।

प्रश्न- नाटक क लेल कौन कौन संस्थान स जुडलहुं?
उत्तर-पटना क अक्षरा नाट्रय संस्थान स जुडि कए कईटा नाटक मे अभिनय केलहुं। भारतीय नाट्य विद्यालय द्धारा आयोजित भारत रंग महोत्सव मे बिहार क प्रस्तुति ‘जनवासा‘ मे प्रमुख पात्र क भूमिका निभेलहु। चूंकि अभिनय क क्षेत्र मे कैरियर बनेबाक छल ताहि लेल नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा क प्रवेश परीक्षा देलहुं, मुदा सफलता नहि भेटल। फेर मैथली नाट्य निर्देशक कुणाल क सलाह पर मुंबई आबि गेलहुं।

प्रश्न-अभिनय क अलावा कोनो अन्य कैरियर सोचने रही?
उत्तर- दरअसल हम मुंबई यूनिवर्सिटी स ड्रामा मे एमए करबा लेल आयल रही। तखन इ तय नहि छल जे फिल्म या टीवी मे जाएब। इच्‍छा छल जे एमए क बाद लेक्चर या नाटक क प्रोफेसर बनी। मुदा एक साल बाद एहसास भेल जे फिल्‍म मे भाग्‍य आजमाउल जाए। फेर पंकज त्रिपाठी क मदद स प्रकाश झा प्रोडक्शनस क चर्चित सीरियल ‘बाहुबली‘ मे नीक रोल भेट गेल। मुदा किछु एपीसोड क बाद ओ बंद भ गेल।

प्रश्न-बाहुबली क बाद क सफर केहन रहल?
उत्त्र- बाहुबली क बाद आईडिया क एड भेटल। फेर हिन्दी फिल्म अंतरद्धंद्व मे छोट सन रोल भेटल। हिन्दी फिल्म एलएसडी मे सेहो काज भेटल मुदा रोल एडिट करि देल गेल। एकर अलावा बिदाई सीरियल क 20टा एपीसोड मे सेहो काज केलहुं।

प्रश्न- फिल्म आओर टेलिविजन मे केहन अंतर देखैत छी?
उत्तर- फिल्‍म मे हिरोईन क अलावा लड़की क लेल कोनो खास काज नहि अछि। बस दादी आ माइ क कैरेक्टर बचैत अछि। जखनकि टीवी मे हमारा सब लेल बहुत स्पेस अछि। से दूटा फिल्‍म मे छोट किरदार करबा स नीक नहि लागल। मुदा टीवी मे हमरा नीक काज आ रोल भेट रहल अछि।

प्रश्न-अहांक कैरियर मे घरवाला क केतबा सहयोग रहल?
उत्तर- घर क शुरू स सहयोग छल। मुंबई मे दीदी आ भाई क सहयोग भेटल आ मम्मी-पापा क प्रोत्साहन क बिना इ संभव नहि छल।

प्रश्न- की एखनो नाटक करब नीक लगैत अछि?
उत्तर- बिल्कुल। टीवी मे अभिनय क संग संग हम साल मे एक या दूटा नाटक मे जरूर काज करैत छी।

प्रश्न- जी टीवी क धारावाहिक ‘ भागोवाली‘ आ एहि मे अपन भूमिका क बारे मे किछु बताउ।
उत्तर- एहि धारावाहिक क निर्देशक मोहित झा छथि। रीता भादुड़ी नानी बनल छथि। जहां धरि हमर सवाल अछि त हम कलसनवाली मामी क भूमिका मे छी जे घर क संग संग बाहर क मोर्चा सेहो देखैत छथि। इ किरदार लड़ाकू किस्म क अछि। इ किरदार हमर स्‍वभावक एक दम विपरीत अछि।

प्रश्न- सुरुचि इ’समाद स गप करबा लेल धन्‍यवाद।
उत्तर- इ’समाद आ अहां दूनू कए धन्‍यवाद।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments