तथ्य कए नुका रखलाह मनमोहन: नीतीश

पटना । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर पलटवार करैत कहला अछि जे प्रधानमंत्री जी केंद्रीय परियोजना पर तथ्य कए नुका राखि बिहार क जनता कए गुमराह करि रहल छथि। नीतीश इ टिप्पणी मनमोहन क ओहि कथन क संदर्भ मे देलथि अछि जाहि मे इ कहल गेल छल जे यूपीए सरकार बिहार कए सब साल 100 करोड टका अतिरिक्त द रहल अछि आ राज्य सरकार ओकरा सही ढंग से खर्च करबाक अपन जिम्मेदारी नहि निभा रहल अछि।
नीतीश कहला जे इ अतिरिक्त टका यूपीए सरकारक कारण नहि भेट रहल अछि, इ टका झारखंड बनलाक बाद बिहार कए एकटा खास पैकेजक तहत केंद्रक एनडीए सरकार बिहार कए देने अछि, प्रधानमंत्री एहि गप कए नुका रखलाह, आ जनता लग एना प्रस्तुत केलाह जेना ओ बिहार कए सब साल भीख द रहल छथि। नीतीश कहला जे प्रधानमंत्री एहि प्रकार स तथ्य क अनदेखी करताह एकर उम्मीद नहि छल।
नीतीश कहला जे प्रधानमंत्री योजना आयोग क अध्यक्ष छथि आ उक्त राशि क बारे मे किछु बजबा स पहिने ओ योजना आयोग क उपाध्यक्ष स पूछि लेबाक चाही किया कि उक्त राशि त केंद्रीय एजेंसी खर्च करैन अछि राज्य सरकार नहि। ओ कहला केंद्रीय राशि कए लकए जे आरोप राज्य पर लगाउल जाइत अछि ओ नहि लगेबाक चाही मुदा केंद्रीय मंत्री तक धड़ल्ले स एहन आरेाप लगा देश क संघीय ढांचा पर हमला करि रहल छथि।
नीतीश कुमार कहला जे योजनामद क तहत जे सहायता राज्य कए केंद्र स भेटैत अछि ओकर फार्मूला पूर्व स बनल अछि। ओ कहला जे देश मे जे कर संग्रहित होइत अछि ओकर बारे मे योजना आयोग तय करैत अछि जे केतबा केंद्र लग रहत आ केतबा राज्य कए भेटत।
नीतीश कहला जे उक्त टैक्स पर राज्य क अधिकार अछि, एहि लेल केंद्र जे कोनो राज्य कए राशि दैत अछि ओ ओकर कृपा नहि होइत अछि। ओ कहला जे जतए धरि केंद्र प्रायोजित योजना क गप अछि त ओहि मे सहो राज्य क हिस्सा लगैत अछि आओर राष्ट्रीय विकास परिषद मे ओकरा कम करबाक आ ओकरा पर निर्णय राज्य क उपर छोडबाक गप उठाउल गेल अछि। नीतीश कहला जे पूर्व मे केंद्र अपन लग जेतबा हिस्सा रखैत छल वर्तमान मे ओहि स बेसी अपना लग रखैत अछि, राज्य सब कए कम हिस्सा वितरित कैल जा रहल अछि।
ओ कहला जे प्रधानमंत्री कए एकटा अर्थशात्री जेकां बिहार कए देखबाक चाही न कि राजनेता जेकां। नीतीश कहला जे प्रधानमंत्री कए बिहारक केतबा चिंता छैन इ त एहि स साफ भ जाइत अछि जे ओ पिछला पांच साल स प्रधानमंत्री कए बिहार एबाक नोत द रहल छलाह, मुदा हुनका बिहार लेल समय नहि भेटल। ओ कहला जे बिहार कए विशेष राज्य क दर्जा देबाक मांग लेल सर्वदलीय शिष्टमंडल कए प्रधानमंत्री स समय 2006 स आइ तक नहि भेटल। जखन कि 2004 मे केंद्र मे संप्रग सरकार बनला पर प्रधानमंत्री बिहार कए विशेष पैकेज देबाक गप कहने छलाह, मुदा आइ धरि नहि द सकलाह। एकर अलावा गन्ना स एथनाल बनेबाक अनुमति मांगल गेल जाहि स राज्य मे उद्योग कए माहौल तैयार भ सकैत छल, मुदा केंद्र अनुमति नहि देलक आ त आर बिजली घर लेल कोल लिंकेज नहि द सकल।
ओ कहला जे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कोसी बाढ़ त्रासदी क बाद ओकरा राष्ट्रीय आपदा घोषित केलथि, मुदा पीड़ित क लेल अतिरिक्त मदद नहि देलथि।
श्री कुमार कहला जे हुनकर सरकार सिर्फ नदी पर पुल नहि बनेलक बल्कि समाज मे टूटल दिल कए जोड़बा लेल सेहो पुल बनेलक। लोक क मन मे विकास कए लकए उम्मीद जगल अछि।
ओ सवाल केलाह जे जखन बिना काम करनिहार कए 15 साल शासन करबाक अवसर अहां सब देलहुं तखन हमर सरकार त पांच वर्ष में किछु काज जरूर केलक अछि त कि ओकरा अगिला पांच साल क लेल आओर मौका नहि भेटबाक चाही!
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहला अछि जे अगर हुनकर काज आ नीयत पर भरोस अछि त हुनका वोट देब। नीतीश कहला जे हमर पूर्वज काला पानी क यातना झेलकए आजादी दियौलथि, तखन जाकए लोकतंत्र स्थापित भ सकल, मुदा आइ किछु लोक एकर मजाक उड़ा रहल अछि। पंद्रह साल तक राज करनिहार वर-कनिया सत्ता क लेल बेचौन छथि। मौगी कए संबंधित करैत नीतीश कहला जे ओ आन नेता जेना गपक खेती नहि करैत छथि, अहां सब कए आधा अधिकार हमार सरकार द देलक। आब अहां सबहक बारी अछि, भारे भेर तैयार भ मतदान केन्द्र पर जाकए वोट दी। फेर भोजन-भाजन होइत रहत। एकटा गप आर जे पुरुष मतदान नहि करथि हुनका उपवास करा दी।
नीतीश कहला जे हमरा सब कए जेतबा समय भेटल ओतबा मे जे भ सकल मन स काज केलहुं अछि। इ ककरो स नुकायल नहि अछि। अगर कहियो ककरो स कोनो भूल भ गेल हुए त एहि किछु काज कए देखि क्षमा चाहैत छी। ओ कहा जे 2015 तक बिहार विकास क मामला मे ककरो स आगू रहत।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments