सैलूनक फोटो स संतोष केलक पूर्व मध्य रेलवे

1
2

Maharaja Saloon

तिरहुत रेलवे क महाराजा सैलनू क खूबी स परिचित भेल नव पीढी

दरभंगा । राजस्थान हो बा बिकानेर या फेर बडौदा सब ठाम रेलवे अपन धरोहर कए बचा रखने अछि आ आम लोक क संगहि पर्यटक ओहि धरोहर स परिचित होइत रहैत छथि। भारतीय रेलवे क 150म साल पूरा भेला पर जतए सबठाम क धरोहर क प्रदर्शनी कैल गेल, ओतहि पूर्व मध्य रेलवे तिरहुत रेलवे क महाराजा सैलून क मात्र फोटो देखा संतोष केलक। पूर्व मध्य रेलवे द्वारा जारी कैल गेल स्मारिका मे ओना तिरहुत रेलवे क बोर्ड गेज आ मीटर गेज ट्रैक वाला दूनू सैलून क विशेषता कए विस्तार स उल्लेख कैल गेल अछि, मुदा सैलून क वर्तमान स्थितिक संबंध मे कोनो जानकारी नहि देल गेल अछि। एहि रेल सैलून मे एकटा बैडरूम, एकटा ड्राइंगरूम, एकटा वाशरूम छल। सैलून कुल चारिटा कम्पार्टमेंट छल जाहि मे एकटा महाराजा आ तीनटा कोच राजकुमार लेल छल जेकरा कुमार साहब सैलूनक नाम स चिन्हल जाइत छल।
ज्ञात हुए जे बोर्ड गेज वाला सैलून कए 1962 मे सांसद डा कामेश्वर सिंह क निधन क बाद राज दरभंगा भारतीय रेलवे कए रखबा लेल द देलक। एकरा लेल राज दरभंगा रेलवे कए तय रकम चुका रहल छल। रेलवे एहि सैलून कए बरौनी क रेलवे यार्ड मे रखने छल। दुर्भाग्य स 1975 मे दरभंगाक सांसद आ रेलमंत्री ललित नारायण मिश्र क हत्या क बाद बिहारक एकटा राजनेता आ रेलवे क किछु बईमान अधिकारी क मिलीभगत स एहि सैलून क पॉश आ भीतरक चांदीक कृति लूटि लेल गेल आ सैलून कए तहस नहस क आगिक हवाले क देल गेल। पिछला 38 साल स ललित बाबू हत्याकांड जेना एहि अग्निकांडक रिपोर्ट नहि आबि सकल अछि, संगहि एक लाख टकाक बीमा रकम सेहो रेलवे नहि चुकेलक अछि। मीटर गेज क सैलूनक संबंध मे रेलवे किछु कहबाक स्थिति मे नहि अछि, जखन कि राज दरभंगाक दावा अछि जे ओ गोरखपुर यार्ड मे राखल गेल छल।
ज्ञात हो जे तिरहुत रेलवे क मालिक आ दरभंगा क महाराज लेल शाही तरीके स तैयार कैल गेल सैलून अपना आप मे एकटा अदभुत कृति छल। एहि मे चीन स आयल सागवान(टीक), चांदी, पीतल आ चंदनक प्रयोग कैल गेल छल। 1962 तक देशक जे महान विभूति दरभंगा एलाह ओ एहि शाही सैलून क सवारी केलथि। चाहे ओ बीकानेर क महाराज होइथि आ भारत क वाइसराय सब एहि सैलून क सवारी केने छथि। पूर्व राष्ट्Ñपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णा समेत देशक कईटा नेता सेहो एहि सैलून पर सफर कर चुकल छथि।
एकर बावजूद रेल मंत्रालयक एकर प्रति उपेक्षा क स्थिति इ रहल जे मंत्रालय लग एहि सैलूनक कोनो फोटो तक उपलब्ध नहि छल। रेलवे क 150 म वर्षगांठ क अवसर पर रेलवे क पदाधिकारी किछु दिन पूर्व दरभंगा स्थित महाराजा कामेश्वर सिंह कल्याणी फाउन्डेशन स सैलून क स्वेत-श्याम फोटो मंगबा लेल आयल छलाह। जखन हुनका स पूछल गेल जे दूनू सैलून त रेलवे लग छल, त अधिकारी एकर कोनो प्रकार क जानकारी स इनकार केलथि।
महाराजा कामेश्वर सिंह कल्याणी फाउन्डेशन क प्रबंधक ट्रस्टी आ प्रसिद्ध चिंतक हेतुकर झा क अनुसार महाराजा कामेश्वर सिंह लग एक जोड़ी रेलवे सैलून छल। एकटा बोर्ड गेज ट्रैक लेल छल जेकर संबंध मे त जानकारी अछि मुदा मीटर गेज ट्रैक लेल जे छल ओकर संबंध मे कोनो जानकारी नहि अछि। श्री झा कहला जे मीटर गेजवाला सैलून बहुत दिन तक दरभंगा स्थित महाराजा क निजी रेलवे स्टेशन पर छल। इ प्लेटफॉर्म नरगौना पैलेस क परिसर मे अछि जे आब अपन वजूद बचेबा मे असमर्थ अछि।
दरभंगा क विधायक संजय सरावगी सेहो कहैत छथि जे ओ महाराजा क आधिकारिक आवास मे एहि सुसज्जित सैलून कए देखने छथि। ओ कहैत छथि जे ओ एकटा अभूतपूर्व धरोहर छल। मुदा दुर्भाग्य स एहि धरोहर क अंशमात्र आइ सुरक्षित नहि अछि। जनता दल यूनाइटेड क बिनोद झा कहब अछि जे दरभंगा महाराज क मीटर गेज सैलून कए ताकल जेबाक चाही आ मिथिला क एहि हेरिटेज कए रेलवे संग्रहालय मे सुरक्षित रखबाक चाही। पूर्व मध्य रेलवे द्वारा चित्र कए प्रदर्शित करबा लेल ओ रेल मंत्रालय कए धन्यवाद देलथि।
इ-समाद, इपेपर, दरभंगा, बिहार, मिथिला, मिथिला समाचार, मिथिला समाद, मैथिली समाचार, bihar news, darbhanga, latest bihar news, latest maithili news, latest mithila news, maithili news, maithili newspaper, mithila news, patna, saharsa

Please Enter Your Facebook App ID. Required for FB Comments. Click here for FB Comments Settings page

1 COMMENT

  1. Neek vaa bejaay – appan appan mat thik.

    Par etbaa jaroor je ee chitra Aitihaasik dharohari chhee.

Comments are closed.