वैशाली क स्तूप मे राखल जाएत बुद्ध क अस्थि

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहला अछि जे करुणा स्थल मे छह जगह स आनल गेल अस्थि कए राखल गेल अछि। मुदा पटना संग्रहालय मे राखल बुद्ध क मुख्‍य अस्थि कए अतिशीघ्र वैशाली मे एकटा नव स्तूप क निर्माण करा कए ओहि ठाम स्‍थापित कैल जाएत। ज्ञात हुए जे सम्राट अशोक अपन शासनकाल मे ओहि ठाम एकटा स्तूप बनवा चुकल छथि जाहि पर सिंह क मूर्ति अछि। एहन मे राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह समेत पूरा उत्‍तर बिहार इ मांग करैत रहल अछि जे पटना संग्रहालय मे राखल भगवान बुद्ध क अस्थि कए वैशाली मे स्‍थापित कैल जाए। पटनाक बुद्ध स्‍मृति पार्क मे शुरू भेल तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय बौद्ध संघ समागम मे मुख्य अतिथि क रूप मे बजैत मुख्यमंत्री कहला जे बिहार केवल 11 करोड़ बिहारवासी क नहि छी, बल्कि दुनिया भरि क बौद्ध धर्मवालंबी क धरती छी। हुनकर इ बयान 17 देश स आयल प्रतिनिधि कए भावविभोर क देलक आ ओ शांति क अदभुत माहौल मे ताली बजेबा स अपना कए नहि रोकि सकलाह। मुख्यमंत्री कहला जे भगवान बुद्ध स संबंधित सबटा स्‍थल कए विरासत मानि हम रक्षा करब। जाहि ठाम खुदाई क जरुरत अछि खुदाई कराउल जाएत। सरकार बौद्ध सर्किट कए विकसित करबा मे लागल अछि। मुख्यमंत्री सब साल भगवान बुद्ध क शिष्‍य सारिपुत्र आ महामोगली क जयंती मनेबाक घोषणा केलथि। कार्तिक पूर्णिमा क दिन सारिपुत्र आ अग्रहण अमावस्या कए महामोगलान क जयंती मनाउल जाएत। इ दूनू बिहार क रहनिहार छथि। मुख्यमंत्री कहला जे भगवान बुद्ध क उपदेश एखनो प्रासंगिक अछि आ सबदिन प्रासंगिक रहत। नीतीश प्रतिनिधि कए बिहार मे स्‍वागत करैत कहला जे बिहार अद्भुत जगह अछि एहि ठाम बुद्ध भेलाह, महावीर भेलाह, सिख आ अन्य धर्म क पीठ सेहो अछि। एहन सांप्रदायिक सद्भाव क वातावरण आर कतहु नहि भेट सकैत अछि। मुख्यमंत्री ताइवान, कंबोडिया, अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, नेपाल, हांगकांग, श्रीलंका, जावा, म्यांमार आ अन्य देश स आयल प्रतिनिधि स बिहार क प्रगति लेल सहयोग क अपील केलथि। 30 मिनट क अपन संबोधन मे मुख्यमंत्री कहला जे 2005 मे जखन ओ दलाइ लामा स बिहार लेल आशिष मंगने छलाह त धर्मगुरु क उत्‍तर छल जखन बिहार कए भगवान बुद्ध क आशीर्वाद अछि तखन बिहार पाछु किया अछि। दलाइ लामा क मर्म कए बुझलाक बाद बिहार लगातार अपना कए आगू बढा रहल अछि। एकर तरक्की मे अहां सबहक सेहो योगदान हेबाक चाही। बिहार फेर विहार योग्‍य बनए, ज्ञानक केंद्र बनए इ बिहारी क इच्‍छा, इ बिहारीक कामना।
maithili news, mithila news, bihar news, latest bihar news, latest mithila news, latest maithili news, maithili newspaper, darbhanga, patna, दरभंगा, मिथिला, मिथिला समाचार, मैथिली समाचार, बिहार, मिथिला समाद, इ-समाद, इपेपर

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments