लो फ्लोर बस क लेल बनत अलग कारिडोर


पटना। राजधानी मे 30 आ 70 सेमी लो फ्लोर क बसक लेल खास कारिडोर बनाउल जा रहल अछि। दू टा कंपनी एकरा लेल आधारभूत संरचना तैयार करि रहल अछि। तीन माह क भीतर उक्त कारिडोर कए तय करि ओतए आहि तरहक रोड फर्निचर क व्यवस्था करबाक अछि, जतय स लो फ्लोर क बस पर लोग आसानी स चढि़-उतरि सक थि। एहि योजना क तहत हाजीपुर स सगुना मोड़ क बीच चौबीस घंटा सीधा कनेक्टिवटी आरंभ करबाक काज भ रहल अछि। ज्ञात हुए जे जवाहरलाल नेहरु अर्बन रिन्यूअल मिशन क तहत बिहार अर्बन डेवलपमेंट एजेंसी (बूडा) एहि बस क क्रय आ मेंटेनेंस क लेल प्रस्ताव आमंत्रित केलक अछि। लो फ्लोर क 70टा बस नान एसी आ 30टा एसी होएत। मेंटेनेंस करार दस साल क होएत। लो फ्लोर बस क लेल खास कारिडोर पर काज कए रहल आई ट्रांस कंपनी क निदेशक सुशांत गौरव कहला जे पहिल रूट क तहत हाजीपुर कए राजधानी क आखिरी हिस्सा स सीधा जोड़बाक अछि। लगभग एक मास क सर्वे मे इ गप सामने आयल अछि जे हाजीपुर स सब दिन चालीस हजार स बेसी लोग राजधानी क विभिन्न हिस्सा मे अबैत अछि। एकरा लेल इ योजना अछि जे बस कए गांधी सेतु क आखिरी हिस्सा स खोलल जाए। ओहि ठाम साइकिल स्टैंड आ मोटरसाइकिल स्टैंड बस क परिचालन कए देखबा लेल चयनित एजेंसी द्वारा बनाउल जाएत। बस क रूट सेहो लगभग तय अछि। राजधानी क पुराने बाइपास होइत इ चिरैयाटांड़ पुल पार करि स्टेशन तक आउत आ फेर डाकबंगला होइत वाया बेली रोड भ कए सगुना मोड़ तक पहुंचत। एहि कारिडोर मे सचिवालय, हाईकोर्ट आ बोरिंग रोड क बाहरी हिस्सा कवर भ रहल अछि। विशेष कारिडोर पर काज करि रहल एजेंसी क अभियंता क कहब अछि जे गांधी सेतु स लकए पुराने बाइपास तक खास कारिडोर क लिए जगह त भेट रहल अछि, पर चिरैयाटांड़ पुल स स्टेशन तक कनि समस्या अछि। एकर बाद फेर डाकबंगला चौक स लकए सगुना मोड़ तक कोनो परेशानी नहि अछि। एहि रूट मे की-की व्यवस्था करबाकअछि इ प्रस्ताव कए एजेंसी द्वारा माह दू माह क भीतर बूडा कए सौंप देल जाइत। एहि तरह स एकटा रूट गांधी मैदान स दानापुर टमटम पड़ाव तक क अछि। एहि रूट मे विशेष कारिडोर बनेबा लेल कोनो तरह क समस्या नहि अछि।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments