लालू कए घेरबा लेल ममता बनेलथि रेल कए माध्यम

स्वेतपत्र मे रेलवेक नौकरशाह फेर केलथि आंकड़ाक बाजीगरी

नई दिल्ली। ममता बनर्जी रेलवे पर पेश श्वेत पत्र क जरिए पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद क कामकाज कए कच्चा चिट्टा आइ लोकसभा मे खोलकए राखि देलथि। नौकरशाह द्वारा बनाउल गेल एहि रिपोर्ट क मुताबिक रेलवे मे जे ग्रोथ रेट बताउल गेल छल ओ सब अनरियलिस्टिक फिगर पर आधारित छल। रेलवे क ऊपरी कमाई जे 60,000 करोड़ स ऊपर बताउल गेल छल,ओ मात्र 17,000 करोड़ क आसपास अछि। श्वेत पत्र क मुताबिक रेलवे जे मुनाफा कमेलक अछि ओ 1991 स 1996 क बीच कैल गेल कोशिशक नतीजा छी। एहि कार्यकाल मे सीके जाफर शरीफ रेल मंत्री छलाह।
सवाल उठैत अछि जे रेलवे एक दिन मे नफा मे नहि जा सकैत अछि आ जाहि रेलमंत्रीक कार्यकाल मे रेलवे नफा मे गेल ओकरा अहां एना नजरअंदाज सेहो नहि करि सकैत छी। आब उठैत अछि लालूक दावा कए। लालू बजट नहि बनेलाह,बजट नौकरशाह बना कए देलक। अगर लालू कए कहला पर नौकरशाह आंकड़ाक बाजीगरी करि रेलवे कए नफा बढ़ा सकैत अछि, त कोन गारंटी जे ममताक आदेश पर फेर नौकरशाह आंकड़ाक बाजीगरी नहि केलक अछि। दरअसल स्वेतपत्र नीतीश कुमार सेहो अपन रेलमंत्री रहैत अनने छलाह, मुदा ओ रेलवेक कार्यशैली पर आधारित छल, मुदा ममताक स्वेतपत्र पूर्ण रूप स लालू केंद्रित अछि। एहि प्रकार स कोनो खास नेताक कार्यकाल पर सवाल उठा ममता एकटा गलत परंपरा शुरू केलथि अछि। आई धरि कोनो मंत्रीक सफलता ओकर कार्यकाल मे भेल निर्णय टा पर आधारित नहि होइत अछि। जहां तक लालूक सवाल अछि ओ अपन बजट भाषण मे ओहि आंकड़ाक उल्लेख केलथि जे हुनका नौकरशाह बना कए देने रहथिन। इ जांचक विषय अछि जे आंकड़ाक बाजीगरी करि राजनीति रूप स नेता कए फायदा पहुंचा रहल रेल मंत्रालयक नौकरशाह आखिर कोन सजाक पात्र छथि। कहल जा रहल अछि जे रेल भवन मे पहिने एहि स्वेत पत्र कए ल कए भ्रम छल आ नौकरशाह एहि लेल लालू कए जिम्मेदार मानबा स कतरा रहल छलाह, मुदा ममता बनर्जी कोनो हालत मे लालू कए घेरबा तैयार छलीह। नौकरशाह क इ मत सुनि ममता भड़क गेलीह आ ओ एहि मे रेलवे क एक्सपर्ट कमेटी क चेयरमैन अमित मित्रा कए शामिल करि लेलथि। श्वेत पत्र क तैयारी अमित मित्रा क देखरेख मे भेल। एहि मुद्दा पर रेलवे क अफसर त दूर रेल राज्यमंत्री तक किछु कहबा स कतरा रहल छथि।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments