मिथिला फेर खोलत बिहार मे सत्ता क दुहारि

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव क पहिल चरण क 47टा सीट क लेल 21 अक्टूबर कए मतदान हेबाक अछि। एहि दौरान सबटा राजनीतिक दल मतदाता कए आकर्षित करबा लेल अपन पूरा ताकत झोंक देलथि अछि। पहिल आ दोसर चरण क सीट मिथिला क्षेत्र क अछि। राजनीतिक विशेषज्ञ क कहब अछि जे इ इलाका हरदम सत्ताक संग रहल अछि, मुदा ओहि ठामक लोक क मानब अछि जे ओ जेकरा चुनैत छथि सत्ता ओकरे भेटैत अछि। एक बेर फेर मिथिला क लोक सत्ता क दुहारि खोलबा लेल तैयार अछि। एहि क्षेत्र मे अधिकतर सीट पर सतारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आ जनता दल (यूनाइटेड) गठबंधन क कब्जा अछि। एहि सीट पर कब्जा जमा कए राखब राजग क कोशिश रहत। ओतहि राजग क वोट बैंक मे सेंध लगाकए अपन पुरान जनाधार कए हासिल करब राष्ट्रीय जनता दल (राजद), लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) आ कांग्रेसक मुख्य चुनौती होएत। परिसीमन क बाद भ रहल एहि पहिल चुनाव मे मधुबनी क एकटा सीट मधेपुर क अस्तित्व समाप्त भ गेल अछि। जाहि पर राजदक कब्जा छल। मधुबनी जिला मे एकटा विधानसभा क्षेत्र कम भ गेल अछि। पहिल चरण मे चाहि सीट लेल मतदान होएत ओहि मे स पिछला चुनाव मे भाजपा आ जद (यू) गठबंधन क प्रत्याशी 28टा सीट पर विजयी भेल छलाह, जखकि राजद कए मात्र पांचटा सीट भेटल छल। जाहि मे स मधेपुर एहि बेर नहि अछि। ओतहि रूपौली विधानसभा क्षेत्र स विजयी राजद विधायक बीमा भारती एहि बेर जद (यू) क सदस्य छथि। एकर अलावा पूर्व सांसद तस्लीमुद्दीन क पुत्र सरफराज सेहो जद (यू) क टिकट पर भाग्य आजमा रहल छथि। एहि प्रकारे राजद क कब्जा वाला पांचटा सीट मे स एकटा समाप्त भ चुकल अछि, ओतहि राजद क दूटा विधायक पाला बदलिकए जद (यू) क दामन थामि लेने छथि। प्रथम चरण क चारिटा सीट – मनिहारी, सिमरी बख्तियारपुर, अमौर आ कोढ़ा पर कांग्रेस क कब्जा अछि। अपन सीट बचेबाक कांग्रेस क लेल सेहो चुनौती अछि। जानकार क कहब अछि जे मधुबनी जिला मे पहिने कांग्रेस क काफी मजबूत जनाधार छल। मैथिल बाह्मण क वर्चस्व वाला एहि जिला मे अधिकतम सीट कांग्रेस क झोली मे जाइत छल, मुदा 1990 क बाद स्थिति बदलि गेल आओर इ जिला राजदक गढ भ गेल। आइ स्थिति इ अछि जे एहि जिला मे कांग्रेस क कब्जा मे एकटा सीट नहि अछि। एहि चुनाव मे हालांकि कांग्रेस सब सीट पर अपन प्रत्याशी उतारलक अछि। प्रथम चरण क चुनाव मे सरकार क मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव, रेणु कुमारी, रामजी दास ऋषिदेव, पूर्व मंत्री नीतिश मिश्र, पूर्व सांसद आनंद मोहन क पत्नी लवली आनंद, बाहुबली सांसद पप्पू यादव क पत्नी रंजीता रंजन, कांग्रेस क प्रदेश अध्यक्ष महबूब अली कैसर, लेसी सिंह जइसन लोक क किस्मत दांव पर रहत, ओतहि राजनीतिक दल कए अपन-अपन गढ़ बचेबा क चुनौती रहत। राजनीतिक विश्लेषक हालांकि मानैत छथि जे परिस्थिति बदलल अछि। सब सीट पर कांग्रेस क प्रत्याशी एबा स जद (यू) एहि बेर अति पिछ़डा, पिछ़डा, महादलित, मुस्लिम आ सवर्ण वोट पर अपन लक्ष्य बनेने अछि। कोसी क इलाका जद (यू) क राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव क प्रभाव वाला क्षेत्र अछि। एहि क्षेत्र मे पिछला चुनाव मे जद (यू) कए भारी सफलता भेटल छल। राजद सेहो एहि ठाम माई समीकरण कए फेर जिंदा करबा मे लागल अछि। ज्ञात हुए जे मधुबनी, अररिया, सुपौल, किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार, सहरसा आ मधेपुरा जिला क 47टा सीट पर पहिल चरण क तहत 21 अक्टूबर कए मतदान होएत। उल्लेखनीय अछि जे बिहार विधानसभा क 243 सीट क लेल छह चरण मे 21 अक्टूबर स 20 नवंबर तक मतदान हेबाक अछि। सब सीट क लेल मतगणना 24 नवंबर कए होएत।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments