बिहार क बीस हजार करोड़ क वार्षिक योजना कए मंजूरी

नई दिल्ली। योजना आयोग वित्तीय वर्ष 2010-11 क लेल बिहार क 20 हजार करोड़ क वार्षिक योजना कए अपन मंजूरी द देलक। इ पिछला साल क योजना आकार स करीब साढे पांच हजार करोड़ बेसी अछि। बिहार क मुख्यमंत्री नीतीश कुमार क योजना आयोग क उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलुवालिया क संग भेल बैठक क बाद वर्ष 2010-11 क लेल वार्षिक योजना आकार कए मंजूरी देल गेल। 20 हजार करोड़ क एहि वािर्षक योजना मे बिहार सरकार अपन आंतरिक संसाधन स 8619 करोड़ जुटाउत, जखनकि केन्द्रीय सहायता क रूप मे ओकरा 5870 करोड़ प्राप्त होएत आ राज्य सरकार ऋण क रूप मे 5510 करोड़ इक_ा करत। वार्षिक योजना राशि मे सामाजिक सेवा क लेल 36 प्रतिशत, परिवहन आ संचार क लेल 28 प्रतिशत, ऊर्जा क लेल नौ प्रतिशत आ सिंचाई आ बाढ़ नियंत्रण क लेल दस प्रतिशत राशि राखल गेल अछि। बैठक क बाद नीतीश कुमार कहला जे हुनका प्रसन्नता अछि जे योजना आयोग राज्य क 20000 करोड़ क वार्षिक योजना कए मंजूरी देलक अछि। राज्य क पिछला साल क वार्षिक योजना 14404 करोड़ छल। नीतीश एकरा लेल योजना आयोग आ खासकए अहलुवालिया कए धन्यवाद देलथि आ संगहि उम्मीद जतेलथि जे राज्य वार्षिक योजना क लक्ष्य कए हासिल करत। ओ कहला जे आयोग क संग विभिन्न मुद्दा पर चर्चा भेल, एहि मे क्रियान्वयन स जुड़ल मुद्दा सेहो शामिल छल। ओ कहला जे वार्षिक योजना मे राज्य क अपन योगदान नीक अछि आ लेनदारी सेहो सीमा क अंदर अछि। मुख्यमंत्री कहला जे राज्य सरकार सामाजिक क्षेत्र पर पूरा ध्यान देलक अछि आ आगू सेहो ध्यान देत। ओ कहला जे राज्य क वित्तीय प्रबंधन मे उल्लेखनीय प्रगति भेल अछि। राज्य क राजस्व अधिशेष 2005 2006 मे 81 करोड़ छल, जे वर्ष 2009-10 मे बढि कए 4700 करोड़ पहुंच गेल। एहि तरह राज्य क कर राजस्व 2005-06 क 3561 करोड़ टका स बढि़कए 2009-10 मे 8274 करोड़ टका भ गेल अछि।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments