बिहारक दूनू रेल इंजन परियोजना कए मंत्रिमंडल क मंजूरी

नयी दिल्‍ली । केंद्रीय मंत्रिमंडल आखिरकार बिहार क मधेपुरा मे इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव फैक्ट्री, विद्युत रेल इंजन कारखाना आ मढ़ौरा मे डीजल रेल इंजन लगेबाक रेल मंत्रालयक नवका प्रस्ताव कए मंजूरी द देलक। आब एहि परियोजना कए शुरू करबाक लेल फेर स नीलामी प्रक्रिया प्रारंभ भ सकत। वित्त मंत्री पी चिदंबरम बुधदिन मंत्रिमंडल क बेसार क जानकरी दैत कहला जे इ दूनू कारखाना क्रमश: 1293 करोड़ 57 लाख आ 2052 करोड़ 58 लाख टकाक लागत स खोलल जा रहल अछि। एकरा लेल रेलवे बजट मे प्रावधान केलक अछि। रेल मंत्रालय एहि दूनू कारखाना कए संयुक्त उद्यम स लगाउत।
एकरा लेल अन्तर्राष्ट्रीय नीलामी कैल जाएत आ इंजन बनेनिहार कंपनी क चुनाव तीन मासक भीतर कैल जाएत। वित्त मंत्री पी चिदंबरम क अध्यक्षता मे गठित मंत्रीसबहक समूह 22 अप्रैल कए एहि दूनू कारखाना क स्थापना क नवका प्रस्ताव कए अंतिम रूप देने छल । नवका प्रस्‍ताव क तहत दस साल क भीतर 12 हजार हॉर्स पावर क 800 बिजली इंजन आ 6000 हार्स पावर क 4500 रेल इंजन बनाउल जाएत
ज्ञात हुए रेलवे, वित्त आओर कानून मंत्रालय क उच्च अधिकारी क एकटा अधिकार प्राप्त समिति आ योजना आयोग क बैठक 21 जून कए दोसर बेर भेल छल, जाहि मे मधेपुरा आ मरहोरा मे प्रस्‍तावित संयंत्र क पीपीपी मॉडल क बारे मे सिफारिश भेल छल।
इ’समाद अपने लोकनि कए पहिने बता चुकल अछि जे इलेक्ट्रिक इंजन संयंत्रक ठेका लेबाक दौड़ मे 4टा कंपनी शामिल अछि, जाहि मे जनरल इलेक्ट्रिक (जीई), एल्सटन एसए, बम्बॉर्डियर इंक आ सीमेंस एजी शामिल अछि। रेल मंत्रालय आओर वित्त मंत्रालय क बीच कंपनी द्वारा तैयार कैल गेल इंजन क दाम क मसला पर मतभेद क संबंध मे रेलवे अधिकारी कहला- कुल मिलाकए कोनो वैचारिक मतभेद नहि अछि। वित्त मंत्रालय क सदस्य किछु मसला उठेलथि अछि, जाहि पर रेलवे अपन विचार द देलक अछि।
सब किछु तय रहबाक बावजूद रेल मंत्रालय क लुंज-पुंज व्‍यवस्‍थाक कारण एहि दूनू परियोजना पर गप आगू नहि बढि रहल छल। इंजन संयंत्रक दूनू परियोजना क घोषणा तत्कालीन रेलमंत्री लालू प्रसाद 2007 मे केने छलाह। एकरा पहिने रेल मंत्रालय अपन दम पर बनेबाक गप कहने छल, बाद मे एकरा पीपीपी परियोजना मे बदलि देल गेल, जाहि मे रेलवे क हिस्सेदारी महज 26 प्रतिशत राखल गेल। पहिने बिजली वाला 800 इंजन आओर 1000 डीजल इंजन बनेबाक ठेकाक कुल अनुमानित लागत करीब 1300 करोड़ डॉलर अनुमानित छल।

इ-समाद, इपेपर, दरभंगा, बिहार, मिथिला, मिथिला समाचार, मिथिला समाद, मैथिली समाचार, bihar news, darbhanga, latest bihar news, latest maithili news, latest mithila news, maithili news, maithili newspaper, mithila news, patna, saharsa

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments