बिजली लेल प्रधानमंत्री लग पहुंचल बिहार

नई दिल्ली। बिहार मे राजनीतिक सोच आब बदलि चुकल अछि। राहुल राज मामला के बाद कई बेर कोनो नेता या दल नहि बल्कि पूरा बिहार दिल्‍ली क दरबार मे अपन विरोध जता इ बता चुकल अछि जे बिहार आब एक अछि। शुक्रदिन सेहो बिजली आ कोयला आपूर्ति सन राज्‍यहित सन मामला ल कए पूरा बिहार प्रधानमंत्री लग पहुंचल। सच पूछू त बिजली बिहार क कोनो एकटा दल या नेता क समस्‍या नहि थीक, इ त पूरा बिहारक समस्‍या थीक, ताहि लेल प्रधानमंत्री सेहो पूरा मामला कए गंभीरता स लैत कार्रवाईक आश्‍वासन देलथि। बरौनी थर्मल पावर क विस्तार परियोजना लेल कोल लिंकेज आओर बाढ़ आ कहलगांव थर्मल पावर परियोजना स आपूर्ति क आधा हिस्‍सेदारी बिहार कए देबाक मांग ल कए जखन राज्य क एकटा सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल शुक्रदिन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह स भेंट केलक त दिल्‍ली कए सेहो लागल जे आब बिहार संग अन्‍याय करब आसान नहि होएत। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार क नेतृत्व मे आयल सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री स भेंट क दौरान हुनका एहि संबंध मे दूटा ज्ञापन सौंपलक। प्रधानमंत्री क संग करीब आधा घंटा क चर्चा भेल। वार्ता क बाद नीतीश कुमार कहला जे बिहार विधानमंडल मे चर्चा क दौरान सर्वानुमति बनल छल जे एहि मसला पर सब दल क लोग पीएम स भेंट करब। ओ कहला जे इ राज्‍यहित क मामला छी। ओ कहला जे प्रधानमंत्री बिहार क गप ध्यान पूर्वक सुनलाह अछि आ आश्वासन देलथि अछि। सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल मे मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार क अलावा उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, विधानसभा मे विपक्ष क नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी, विधान परिषद मे विपक्ष क नेता गुलाम गौस, कांग्रेस क सदानंद सिंह, भाकपा क केदार पांडेय, माकपा क बासुदेव सिंह आओर लोजपा क जाकिर हुसैन शामिल छलथि। ज्ञात हुए जे बिहार सरकार बरौनी थर्मल क क्षमता क विस्तार करि 250-250 मेगावाट क दूटा यूनिट लगा रहल अछि। एकरा लेल ओ कोल लिंकेज क मांग करि रहल अछि। कोयला मंत्रालय बिहार क मांग कए इ कहैत ठुकरा देलक अछि जे राज्य कए एकरा लेल कोल ब्लाक क आवंटन भ चुकल अछि। बिहार कोल ब्लाक नहि कोल लिंकेज मांगि रहल अछि। राज्य क दोसर मांग एनटीपीसी क बाढ़ आ कहलगांव सुपर थर्मल स उत्‍पादित बिजली क कोटा बढेबाक अछि। केंद्र सरकार 14टा नव पावर प्लांट लेल राज्‍य क कोटा पचास प्रतिशत करि देलक अछि। मुदा एहि कानून क तहत बाढ़ आ कहलगांव क नव इकाइ कए शामिल नहि कैल गेल अछि।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments