पटना सन बनउ आनो शहर : नीतीश

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहला अछि जे अगिला तीन चारि साल मे पटना क भांति भागलपुर, गया, मुजफ्फरपुर आ दरभंगा सेहो एकटा पैघ आ विकसित शहर बना देल जाएत। ओ शहरी विकास क 10टा योजना क शुभारम्भ केलाक बाद अधिकारी कए संबोधित करि रहल छलाह। एहि योजना पर 617.38 करोड़ व्यय होएत। ओ अधिकारी स आग्रह केला जे तीन-चारि वर्ष मे एहि शहर सबहक क सूरत एहन बदलि देल जाए जे लोक अपन शहर कए विकसित कहि सकथि। सड़क क मामला मे एहन देखा रहल अछि। ओ कहला जे एहन योजना तैयार करू जाहि स 3-4 साल मे नव इलाका ठीक स बनए। एहि पर एखने स अमल शुरू हेबाक चाही। शहरक फैलाव क संबंध में एहि वर्ष क अंत तक कानून बनि जेबाक चाही आ नीति निर्धारित भ जेबाक चाही, ताकि एकरा अगिला साल स लागू करि देल जाए। ओ कहला जे आब प्रशासन मे जड़ता टूटबाक चाही। शहर क विकास क कार्य प्रारम्भ भ गेल त रुकबाक नहि चाही। मुख्यमंत्री क अनुसार एखन हर साधन सम्पन्न व्यक्ति क चाहत अछि जे पटना शहर मे हुनकर एकटा घर हुए। एकरा लेल ओ पैघ दाम चुका कए फ्लैट बुक करा रहल छथि। मुख्यमंत्री क अनुसार शहरक विकास क मतलब केवल आवासीय सुविधा उपलब्ध करायब नहि हेबाक चाही, बल्कि शिक्षा ,व्यवसाय, उद्योग , चिकित्सा सुविधा ,पार्क सहित सबटा गतिविधि कए गति भेटबाक चाही। ओ कहलथि जे एहि मामला मे बिहार कए उत्तरप्रदेश स सीखबाक चाही। ओहि ठाम क लोक मात्र लखनऊ नहि दौडैत छथि, बल्कि अन्य शहर मे सेहो रहबाक नीक व्‍यवस्‍था अछि। शहरी विकास क योजना कए बिहार राज्य शहरी आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड (बुडको) क माध्यम पूर्ण कैल जाएत। राज्य मे पहिल बेर नगर विकास विभाग क योजना कए लागू करबा लेल निगम क गठन भेल अछि। समारोह क मुख्य अतिथि उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी कहला जे लोक कए भ्रम होएत जे इ व्यवस्था केन्द्र क अछि। ओ स्पष्ट केलाह जे विभिन्न योजना मे केन्द्र क अंशदान 50 प्रतिशत , 70 प्रतिशत आ कोनो मे 80 प्रतिशत अछि। योजना सब मे एकटा हिस्‍सा राज्य सरकारक सेहो होइत अछि।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments