धूमधाम स मनाउल गेल सीता जयंती

सीतामढ़ी/ नई दिल्‍ली। सोहर, बधाई, मंगल गीत, मंगलाचरण, मंत्रोच्चार आ दीपोत्सव क बीच मां सीताक प्रकाट्य स्थली सीतामढ़ी स ल कए नई दिल्‍ली तक मे धूमधाम स जानकी नवमी क उत्सव मनाउल गेल । आस्था क सैलाब जनकपुर मे सेहो देखल गेल। सड़क पर स मंदिर तक भक्ति क विहंगम नजारा देखबा योग्‍य रहल। सीतामढीक जानकी स्थान मंदिर मे वैदिक मंत्रोच्चार क बीच जन्मोत्सव मनाउल गेल। महिला सब सोहर गौलथि। जन्मोत्सव क बाद महाआरती मे अपार भीड़ देखल गेल। लोग माइ क दर्शन क लेल व्याकुल भ गेल छलथि। कृत्रिम प्रकाश क बीच मंदिर क सुदरता देखबा योग्‍य छल। जानकी स्थान मंदिर मे देर राति धरि लोकक कतार छल। डोला क संग 84 कोस परिक्रमा करि लौटल संत क स्वागत आ प्रसाद क वितरण लेल सेहो एहि बेर आपाधापी छल। ओना प्रशासन पहिने स बेसी मुश्‍तैद छल। जन्मोत्सव क संग भेल महाआरती मे लोक क भीड कनि काल लेल बेकाबू भ गेल छल। उमड़ल जन सैलाब स मंदिर परिसर छोट पडि गेल छल।
दोसर दिस नई दिल्‍लीक लाजपत नगर स्थित शीतला मंदिर मे मैथिली क जयंती मनाउल गेल। यूथ आफ मिथिला नामक संस्‍था इ आयोजन केने छल। संस्‍था दिस स सीता नवमी क अवसर पर सीताराम क पूजा कैल गेल ताहि उपरांत लालदास लिखित मैथिली रामायणक संपूर्ण पाठ कैल गेल। एहि अवसर पर काफी संख्‍या मे लोग उपस्थित छल। मैथिली भाषा मे रामायण क पाठ स लोक गदगद छल। राजधानी दिल्‍ली क अलावा गाजियाबाद मे सेहो सीता जयंतीक आयोजन भेल छल। जाहि ठाम सेहो काफी संख्‍या मे लोक भगवती सीता कए दर्शन करबा लेल पहुंलथि। इ अलग गप अछि जे राम कए नाम जननिहार विश्‍वहिंदू परिषद, बजरंग दल आ लवकुश सेना सीता कए स्‍मरण करबाक कोनो प्रयास नहि केलक। एकर संगहि कोनो राजनेता कए सेहो सीता क ध्‍यान नहि आयल। मुदा मिथिलाक एहि बेटी कए नमन करबा लेल आम जनता भारे स मंदिर क पाट खुलबाक बाट ताकि रहल छल।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments