दोसर लेल बहुत भेल अपना लेल काज करू : नीतीश

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आइ कहल जे देश क कईटा राज्य क विकास मे महत्वपूर्ण योगदान देनिहार बिहारी मे अगर बिहारीपन क भाव जागि गेल त राज्य 15 प्रतिशत विकास दर हासिल करबाक संग-संग 2015 तक विकसित प्रदेश बनि जाएत आ तखन भारत विकास क मामला मे चीन स सेहो आगू भ जाएत। नीतीश आइ पहिल बेर आयोजित तीन दिवसीय बिहार दिवस समारोह क उद्घाटन करैत कहला जे 98 साल पूर्व हम सब बंगाल स अलग भेल रही, मुदा आइ धरि बिहार दिवस नहीं मनाउल गेल। ओ कहला जे बिहार क लोक अपन मेहनत आ प्रतिभा क बल पर देश क विभिन्न प्रांत मे जाकए दूसर क लेल दौलत पैदा करेत रहल, मुदा बिहार आ बिहारी कए हेय दृष्टि स देखल जाइत रहल। मुदा आब इ बर्दाश्त नहि कैल जा सकैत अछि। ओ कहला जे बिहार दिवस क उद्देश्य लोक मे बिहारी अस्मिता आ बिहारीपन क भाव कए जगेबाक अछि, मुदा एकर अर्थ भारतीयता क भावना स टकराव नहि हेबाक चाही। ओ साफ कहला जे हम नीक बिहारी बनिकए सेहो एकटा नीक हिन्दुस्तानी बनि सकैत छी। जखन बिहार क विकास होएत तखन देश क सेहो विकास भ सकत। ओ कहला जे दुर्भाग्य स बिहार क लोक अपना कए जाति आ राष्ट्रीय पहचान स जोड़ैत रहल, मुदा ओ चाहैत छथि जे 98म साल बादे सही बिहार क लोक अपन जातीय पहचान स बाहर निकलि एकटा बिहारी बनथि आ इ सोच विकसित करथि जे बिहार बनत त देश बनत। ओ कहला जे जहिया बिहारक लोक बिहारी भ जाइत ओहि दिन बिहार कए विकसित राज्य बनबा स कोनो ताकत नहि रोकि सकैत अछि।
मुख्यमंत्री कहला जे बिहार क गौरवशाली इतिहास रहल अछि आ एकर इतिहास क बिना भारत क इतिहास पूरा नहि भ सकैत अछि। एकर संग-संग आजादी क लड़ाई मे सेहो बिहार क भूमिका महत्वपूर्ण रहल। बावजूद एकर बिहार क अस्मिता आ पहचान नहि बनल। ओ कहला जे एहि आयोजन क उद्देश्य बिहार कए ओकर विशिष्ट पहचान दिएबाक अछि, ताकि आगूक पीढ़ी हमरा स प्रेरणा ल सक ए। ओ कहला जे सकारात्मक काज हरदम कठिन होइत छैक आ नकारात्मक काज आसान। एहि लेल किछु लोक जे नकारात्मक प्रवृति क छथि ओ गलत चीज कए उभारैत रहैत छथि, मुदा ओकर चिंता करबाक जरूरत नहि अछि। मुख्यमंत्री कहला ले बिहार मे महिला कए त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था मे 50 प्रतिशत आरक्षण देल गेल, जेकरा आब देश क अन्य प्रांत मे सेहो लागू कैल जा रहल अछि। ओ कहला जे एहन कईटा अन्य काज अछि जे बिहार शुरू केलक आ आब ओकरा देश क अन्य हिस्स मे अमल कैल जा रहल अछि। हाल क वर्ष मे बिहार आगू बढि़ रहल अछि, त देश-विदेश मे बिहारी कए सराहना आ शाबाशी भेट रहल अछि। लोक मे स्वाभिमान जागल अछि। लोक क मन स डर दूर भ गेल। पहिल बेर बिहार दिवस मनाउल जा रहल अछि। भविष्य मे एकरा आओर कलात्मक ढंग स मनाउल जाएत। बिहार दिवस कए आओर व्यापक आ सुंदर बनाउल जाएत। ओ कहला जे बिहार मे 300 स अधिक व्यंजन अछि, जेकरा राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिएबाक आवश्यकता अछि। सब बिहारी कए ओ चीज तकबाक चाही जाहि स समाज मे जुड़ाव पैदा हुए। ओ दिन बीत गेल जहिया कहैत छलहुं जे बिहार अनुसरण कैल जाइत छल। आब बिहार क अनुसरण एक बेर फेर देश करि रहल अछि।
एहि अवसर पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी कहला जे देश क विभिन्न राज्य क संग विदेश मे सेहो बिहार दिवस मनाउल जा रहल अछि। इंग्लैंड मे रहनिहार बिहारी इ-मेल स बिहार दिवस मनेबाक सूचना देलथि अछि। कार्यक्रम मे आगत अतिथि क स्वागत करैत मानव संसाधन विकास विभाग क प्रधान सचिव अंजनी कुमार सिंह कहला जे राज्य क सबटा प्राथमिक, माध्यमिक आ उच्च विद्यालय सहित 25,000 स्थान पर बिहार दिवस क आयोजन भ रहल अछि।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments