दिल्‍ली मे शुरू भेल मिथिली महोत्‍सव

नई दिल्‍ली। राष्ट्रीय राजधानी मे 22 मार्च स 26 मार्च तक मैथिली महोत्सव क आयोजन केल जा रहल अछि, जाहि मे नाटक क अलावा कथापाठ आ काव्यपाठ सेहो होएत। कथापाठ क आयोजन कए ‘कथा रवींद्र सागर’ नाम देल गेल अछि, जाहि मे 24 मार्च कए सगर राति मैथिली कहानी क पाठ कैल जाएगा आओर त्वरित समीक्षा सेहो कैल जाएत।
आयोजक संस्था मैथिली लोक रंग (मैलोरंग) दिस स जारी विज्ञप्ति क अनुसार, मिथिला महोत्सव मे 22 मार्च कए रवींद्र नाटय़ क तहत नाटक ‘डाकघर’ क मंचन होएत। इ कार्यक्रम मुक्तधारा, भाई वीर सिंह मार्ग, गोल मार्केट मे सांझ 6.30 बजे शुरू होएत। इ प्रस्तुति मिथिलांगन संस्था क होएत। इ आयोजन स्थल आर.के. आश्रम मार्ग मेट्रो स्टेशन लग अछि।
23 मार्च कए रवींद्र अर्पण क तहत नाटक ‘जल ड़ारू’ का मंचन सांझ सात बजे लिटिल थिएटर ग्रुप, एलटीजी सभागार मे होएत। नाटय़ संस्था मैलोरंग क इ प्रस्तुति कए देखबा लेल दर्शक मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन पर उतरि कए कर जा सकैत छी।
24 मार्च कए कथा रवींद्र सागर क तहत ‘सगरि राति दीप जरय’ क 76म आयोजन होएत। एहि कार्यक्रम मे सारी राति कहानी क पाठ आ पठित कहानी पर समालोचक द्वारा त्वरित समीक्षा कैल जाएत। कथा रवींद्र सागर सांझ छह बजे स अगिला दिन भोर छह बजे तक चलत। आयोजन स्थल अग्रवाल धर्मशाला, मधुबन रोड क लग निर्माण विहार मेट्रो स्टेशन अछि।
25 मार्च कए रवींद्र काव्य क तहत ‘काव्य रचना पाठ’ होएत। आयोजन एम.एल.आर. एकेदमी ऑफ आर्ट, मधुबन रोड मे होएत।
26 मार्च कए रवींद्र नाटय़ क तहत नाटक ‘व्यवस्था’ क मंचन पंचकोसी, सहरसा दिस स कैल कैल जाएत। इ आयोजन मुक्तधारा, भाई वीर सिंह मार्ग, गोल मार्केट मे सांझ 6.30 बजे शुरू होएत। एहि दिन नाटक ‘काबुली वाला’ क मंचन एहि आयोजन स्थल पर सांझ 7.30 बजे स होएत।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments

2 टिप्पणी

Comments are closed.