दरभंगा मे खुलल उत्तर भारत क पहिल थैलेसिमिया लैब

दरभंगा मेडिकल कॉलेज रचलक इतिहास, शोध मे भेटत मदद

दरभंगा । दरभंगा मेडिकल कॉलेज मे उत्तर भारत क पहिल थैलेसिमिया लेबोरेटरी क आखिरकार उदघाटन भ गेल। लेबोरेटरी केवल बिहार लेल नहि बल्कि समस्त उत्तर भारत लेल जीवनदायक बनत। वर्तमान मे एहन लैबोरेटरी केवल लखनऊ मे अछि। एहि लैब कए दरभंगा मे शुरु भेला स एहि बीमारी स पीड़ित लोक खासकए भावी पीढ़ी कए जीवन दान भेटबाक उम्मीद अछि। एकर शुभारंभ लनामिविवि क वीसी डा साकेत कुशवाहा केलथि। एहि अवसर पर ओ कहला जे एहन रोग स बचाव लेल स्कूली स्तर स छात्र-छात्रा कए जागरूक करबाक जरूरत अछि। रोग क लगातार फैलाव स बचबाक सलाह दैत ओ मेला आ शिविर आयोजित करबा पर जोर देलथि ताकि लोक कए काउंसिलिंग संभव भ सकए । ओ कहला जे इ सब भेला स एहि रोग स बचबा आ लडबाक सीख आसानी स भेटत। एहि मौका पर देश क चर्चित चिकित्सीक मे लखनउ क वैज्ञानिक डॉ सरिता अग्रवाल डिब्रूगढ़ क डॉ शांतनु के शर्मा डॉ इनुशा पाणीग्रही जोधपुर क डॉ कुलदीप सिंह इंदौर क डॉ रविंद्र छाबड़ा आदि रोग स बचबाक उपाय आ एकर लक्षण पर विमर्श केलथि। एकर बाद प्राचार्य डॉ आर के सिन्हा पैथोलॉजी विभाग क अध्यक्ष डॉ अजीत कुमार चौधरी एहि रोग पर विस्तार स जानकारी दैत एकरा जेनेटिक बतेलथि। ओ विवाह आ डिलेवरी स पहिने काउंसिलिंग पर जोर दैत एकर प्रति जागरुकता कए जरूरी बतेलथि। एहि स पूर्व डीएम कुमार रवि एहि लेबोरेटरी स डाक्टर आ मरीज कए काफी फायदा भेटबाक उम्मीद जतेलाह। डीएमसी क शैक्षणिक माहौल मे एहि स छात्र कए सीखबा आ सुविधा मे इजाफा क बात करैत ओ कहला जे शोध करबा लेल आब अतिरिक्तब अवसर भेटत जे सुखद अछि। मंच संचालन डॉ बीएन ठाकुर केलथि।

 इ-समाद, इपेपर, दरभंगा, बिहार, मिथिला, मिथिला समाचार, मिथिला समाद, मैथिली समाचार, bhagalpur, bihar news, darbhanga, latest bihar news, latest maithili news, latest mithila news, maithili news, maithili newspaper, mithila news, patna, saharsa

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments