दरभंगाक देवेन पहुंचेलथि कसाब कए फांसीक फंदा तक

पटना। आतंकी अजमल कसाब कए फांसी क फंदा तक पहुंचेनिहार आर कियो नहि बल्कि अपन दरभंगा क देवेन छलाह। महाराष्‍ट्र पुलिस लेल दरभंगा जे छवि रखैत हुए, मुदा एहि अति गोपनीय अभियान क जिम्मेवारी जाहि आइपीएस अधिकारी (1994 बैच) देवेन भारती कए सौंपल गेल छल ओ दरभंगा क बेटा छथि। कसाब कए फांसी क फंदा तक पहुंचेबा लेल योजना दिल्‍ली स्थित दरभंगा हाउस मे बनाउल गेल आ ऑपरेशन एक्स नाम देनिहार आ पूरा योजना कए तैयार केनिहार गृहसचिव आरके सिंह छलाह, सिंह सेहो बिहार क मिथिला क्षेत्र क रहनिहार छथि। दोसर दिस इ समाद सेहो भेट रहल अछि जे कसाब कए फांसी देबा मे जाहि मनीला रस्सी क उपयोग कैल गेल ओ अपन बिहारक बक्सर जेल मे बनल छल। एहि प्रकार स कसाब कए फांसी तक पहुंचेबा मे बिहार क योगदान उल्‍लेखनीय भ गेल।
जानकारी क अनुसार गृहसचिव आरके सिंह क छत्रछाया मे नेतरहाट स्कूल क विद्यार्थी रहल मुंबई क स्पेशल आइजी (विधि-व्यवस्था) देवेन भारती कए एहि पूरा ऑरेशन क जिम्‍मा भेटल छल। हुनक संग एहि अभियान मे 17टा आओर पुलिस अफसर छलथि। करीब 72 घंटा तक हुनकर शेष दुनिया स संपर्क कटल रहल। कसाब कए राति करीब एक बजे आर्थर जेल स कमांडों क निगरानी मे निकालल गेल। फांसी देलाक ठीक 10 मिनट बाद भोर 7:40 बजे देवेन भारती संबंधित अफसर कए मोबाइल पर मैसेज देलथि – ऑपरेशन एक्स सफलतापूर्वक पूरा भेल।
दोसर दिस, राज्य क कारा विभाग क निदेशक एसबीपी सिंह कहला अछि जे दिल्ली क तिहाड़ जेल क मांग पर 2007 मे संसद पर आतंकवादी हमला क दोषी अफजल गुरु कए फांसी देबा लेल बक्सर जेल मे बनल रस्सी क आपूर्ति कैल गेल छल। हालांकि, ओ कहला जे कसाब लेल कोनो अनुरोध नहि आयल, एहन मे लगैत अछि जे ओहि फंदा क प्रयोग पुणा मे कसाब लेल कैल गेल अछि। हालांकि, एकर आधिकारिक पुष्टि नहि भ सकल अछि। बक्सर केंद्रीय कारा क अधीक्षक सुरेंद्र कुमार अंबष्ठ कहला जे उत्तर आ पूर्वी भारत मे फांसी लेल बक्सर क रस्सी क प्रयोग होइत अछि। अंबष्ठ कहला जे 2004 मे कोलकाता मे धनंजय चटर्जी कए फांसी लेल सेहो बक्सर स रस्सी गेल छल।
maithili news, mithila news, bihar news, latest bihar news, latest mithila news, latest maithili news, maithili newspaper, darbhanga, patna

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments