डीएमसीएच मे शुरू भेल बिहार क पहिल आ पूर्वोत्तर क दोसर बायोसेफ्टी लेवर तीन लैब

दरभंगा । करीब सवा सौ साल पहिने संयुक्त बिहारक दोसर आ बिहार क सबस पैघ अस्पताल दरभंगा मे खुलल छल। एकर बाद दरभंगा चिकित्सा क्षेत्र मे पूर्वोत्तर भारत क इतिहास मे धुमिल रहल। मुदा एक बेर फेर दरभंगा अपन इतिहास दोहरा देलक अछि। डीएमसीएच क विकास मे एकटा आओर अध्याय जुटि गेल। दरभंगा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल आब राज्य क पहिल आ पूर्वोत्तार भारत क दोसर बायोसेफ्टी लेवर तीन युक्त अस्पताल भ गेल अछि। एहि मे मेडिकल साइंस कए एकटा नव आयाम भेटत। रोग क वायरस क पहचान लेल आब नमूना कए पूणे पठेबाक जरूरत नहि रहल। आब कतहु कोनो महामारी भेला पर एहि मेडिकल कालेज क बायरोलोजी यूनिट मे मरीज क खून क नमूने क जांच संभव भ गेल अछि। एकर निर्माण पर कुल पांच करोड़ स बेसी खर्च कैल गेल अछि। एहि बीएसएल तीन स मरीज टा नहि बल्कि  शोध छात्र कए सेहो लाभ भेटत। पीजी छात्र एहि लैब मे वायरस पर शोध क सकताह आ राज्यक छात्र कए आब एहन शोध लेल बाहर जेबाक मजबूरी नहि रहल। एहि लैब मे एचआईवी, डेंगू, चिकेनगुनिया, स्वाइन फ्लू, एचबीवी, एचसीवी, सीएमवी, एचएसवी, जेई आदि रोग क वायरस क पहचान आसानी स भ सकत। राज्य मे एहन लैब नहि रहला स कईटा  बीमारी क समय पर पता नहि चलैत छल आ रोगी बेमौत मारल जाइत छल। माइक्रोबायोलॉजी विभाग मे वायरोलॉजी लैब मे वायरस क इंटरनल पहचान जारी अछि। मरीज क खून क नमूना क जांच तीन माह क भीतर शुरू भ जाएत। लैब कए पीसीआर, बायोसेफ्टी केबिनेट, डीएनए एलेक्ट्रोफोरेसिस, जेल इक्यूमेंटेसन सिस्टम, इन्क्यूबेटर आदि अत्याधुनिक मशीन उपकरण स सुसज्जित कैल गेल अछि। दरभंगा क अलावा एहन लैब  पूर्वोत्तार भारत मे केवल गुवाहाटी मे अछि। बिहार मे इ पहिल छी। एहि लैब लेल माइक्रोबायोलोजी विभाग क डा. यशवंत कुमार सिंह आ डॉ. कन्हैया झा गुवाहाटी स प्रशिक्षण लकए एलाह अछि। दिल्ली स आयल इन्विजन बायोटेक क विशाल वर्मा लैब क विभिन्न पहलु क जानकारी देलथि अछि। लैब क शुभारंभ भेला पर प्राचार्य डॉ. एसएन सिन्हा, माइक्रोबायोलॉजी विभाग क अध्यक्ष डॉ. एसपी महतो, पैथोलोजी विभाग क अध्यक्ष डॉ. अमित कुमार चौधरी मौजूद छलाह।

इ-समाद, इपेपर, दरभंगा, बिहार, मिथिला, मिथिला समाचार, मिथिला समाद, मैथिली समाचार, bhagalpur, bihar news, darbhanga, Hawai seva, latest bihar news, latest maithili news, latest mithila news, maithili news, maithili newspaper, mithila news, patna, saharsa

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments