ट्रक क लेल कटलक पहाड़

पटना। बिहार क एकटा शख्स कए इ कारनामा देखि कए शीरी-फरहाद क लव स्टोरी याद अबैत अछि। जेहि तरह स फरहाद अपन मोहब्बत क लेल पहाड़ क सीना चीर कए दूध क नहर बहेने छल, ओहि तरह स पूर्वी बिहार क गया जिला क रहनिहार 53 वर्षीय रामचंद्र दास सेहो अपन ट्रक घर ल जेबा लेल खुद पहाड़ काटि देलक अछि। ओ लगातार 14 साल पहाड़ पर छैनी-हथौड़ा चला कए चारि मीटर चौड़ा सुरंग बनेलक अछि। एहि तरह आब ओ अपन ट्रक घर तक ल जा सकैत अछि। इ काम कए अंजाम देबाक लेल रोजाना काज करैत छल। ओ कहैत अछि जे पहाड़ी इलाका क वजह स अपन ट्रक कए घर स मीलों दूर खड़ा करै पड़ैत छल। रोज रात कए एहि तरह वीराना मे ट्रक छोड़बा मे हुनका चोरी क डर सतबैत रहैत छल। अपन मदद लेल ओ हर अफसर क दरवाजा खटखटेने छलाह। कोनो ठाम स मदद नहि भेटबा पर ओ अपन काम खुद करबाक फैसला केलाह। ओ कहैत अछि जे हुनका इ काम स सिर्फ हुनके टा नहि, पूरा गांव कए फायदा पहुंच रहल अछि। एहि स पहिने गांव वाला कए अपन खेत तक पहुंचबा लेल घूम कए जाइ पड़ैत छल। आब ओ सेहो इ 4.2 मीटर क सुरंग स गुजर कए अपन खेत तक आसानी स पहुंच जाइत अछि।

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments