जखन लालू बनलाह प्रधानमंत्री

नई दिल्लीे। लालू प्रसाद प्रधानमंत्री, मुलायम सिंह यादव संयोजक, आओर गोपीनाथ मुंडे लोकसभा अध्यक्ष। जी हां, सत्य मुदा असंगत। शुक्रदिन विपक्ष छद्म कार्यवाही मे नव पीएम चुनिकए सरकार क विरोध कए संकेत देबाक संग-संग विपक्ष संसद मे नव इतिहास रचि देलक। संप्रग सरकार क आचरण क खिलाफ किछु काल लेल किछु नेता अपना कए पीएम, संयोजक आ अध्यक्ष घोषित करि करीब एक घंटा तक लोकसभा क कार्यवाही चलेलथि। गौरतलब अछि जे सांसद क दरमहा आ भत्ता मे बढ़ोतरी कए लकए लालू आ मुलायम भोरे स कमान सम्हारने छलाह। जखन बिना चर्चा कए विधेयक पास भ गेल त भाजपा क सेहो सब्र टूटि गेल। कार्यवाही स्थगित भ गेल, मुदा विपक्ष क लगभग 70टा सांसद डटल रहलाह। किछु काल धरना देलाक बाद ओ सब नव सरकार क गठन करि लेलथि। सांसद करीब एक घंटस तक मॉक छद्म, कार्यवाही चलेलाह। एहि दौरान बाकायदा विधेयक पर चर्चा भेल आ स्वघोषित पीएम ओकरा खारिज करि देलथि। आब शनिदिन संसद क कार्यवाही शुरू भेला स पहिने लालू क संसद बैसत आ वेतन भत्ता क संग-संग दोसर मुद्दा पर सेहो चर्चा करत।
खबर अछि जे पीएम पद क लेल पहिने दूटा दावेदार सामने छल। लालू आ मुलायम, मुदा बाद मे मुलायम कए संयोजक सह संसदीय कार्यमंत्री बना देल गेल। लोकसभा मे भाजपा क उपनेता गोपीनाथ मुंडे कए सदन क अध्यक्ष चुनल गेल। लालू कहला जे चूंकि सरकार राष्ट्रीय अछि, ताहि लेल एहि मे कोई नेता प्रतिपक्ष नहि रहत। मुदा जखन भाजपा नेता कीर्ति आजाद कए बजबाक अवसर नहि भेटल त ओ अपना कए नेता प्रतिपक्ष घोषित करि देलथि। यानी एहि सरकार मे दबदबा ओबीसी नेता क रहल। फेर कार्यवाही शुरू भेल। मेडिकल काउंसिल विधेयक पर भाजपा क मेनका गांधी आ उदय सिंह बजलथि। माकपा नेता वासुदेव आचार्य अपना कए स्वतंत्र घोषित करैत भाषण देलथि। अंत मे लालू बतौर पीएम विधेयक कए खारिज करि देलथि।
कार्यवाही क बीच मे एकटा मार्शल अंदर आयल त ओकरा बाहर जेबा लेल कहल गेल। लालू कहला जे हुनकर सरकार मे मार्शल क जरूरत नहि अछि। लालूक भाषणक बाद कार्यवाही शनिदिन तक लेल स्थगित करि देल गेल।

फोटो- आइबीएन स साभार

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments