एहन राजनीति स विकास कोना होएत

आजादीक बाद राजनीतिक चर्चा त बहुत भेल, मुदा राजनीतिक शिक्षा पर कोनो काज नहि भेल, एकर दुष्प्रभाव इ भेल जे आइ बहुत रास जनप्रतिनिधि सरकारी योजना स अभिज्ञ छथि आ हुनका एतबा तक जानकारी नहि अछि जे कोन काज कोन योजना आ कोन स्तर पर भ सकैत अछि। राजनीतिक शिक्षा क अभाव नगर निगम स ल कए संसद तक मे देखा रहल अछि। त्रिस्तरीय व्यवस्थाक पहिल स्तर पर इ अशिक्षा आओर हस्यास्पद भ चुकल अछि। उदाहरण लेल अगर दरभंगा नगर निगम बोर्ड क बैसार मे शनिदिन भेल बहस कए ली, त बहुत किछु साफ भ जाएत। पांच घंटा स बेसी अवधि तक चलल मैराथन बैसार मे मेयर गौरी पासवान अधिकतर समय सदस्य कए संसदीय भाषा क पाठ पढ़बैत रहलाह, जखनकि पूर्व मेयर अजय पासवान आ डिप्टी मेयर बाबी खां छोडि कोनो पाषर्द तकनीकी मुद्दा पर बहस करबा लेल मुंह नहि खोलि सकलाह। महिला पार्षद क राजनीतिक शिक्षा स्वभाविक रूप स एखन कमजोर अछि, तथापित एतबा त उम्मीद कैल जा सकैत अछि हुनका बैसार क एजेंडा क ज्ञान हेबाक चाही। बैसार क दौरान महापौर क बेर-बेर एजेंडा पर बहस करबाक अपील बता रहल छल, जे राज्यक सबस पुरान निगम मे स एक दरभंगा नगर निगम क पार्षद एजेंडा पर बहस लैत तैयार नहि छथि। एतबे नहि, सकारात्मक राजनीति बिहार मे एखनो सपना अछि। जखनकि दक्षिण आ पश्चिम भारत इ साबित क चुकल अछि जे नकारात्मक राजनीति क प्रचलन विकास मे बाधक होइत अछि। निगम क बैसार मे एकर सेहो प्रमाण देखबा लेल भेटल। पहिने किछु पार्षद मेयर स पूछलथि जे प्रत्येक वार्ड मे पार्षद क अनुशंसा पर खर्च लेल साढ़े छह लाख टका कोना आनब। इ सवाल गंभीर आ जरूरी छल, कोनो स्रोत क बिना घोषणा करब बिहारक नेता क पुरान आदत रहल अछि। एहन सवाल पर हंगामा नहि हेबाक चाहैत छल, मुदा भेल। स्थानीय विधायक संजय सरावगी सेहो एहि हंगामा कए रोकबाक प्रयास केलथि। खुशी क गप जे मेयर सवालक उत्तर देलथि जे चतुर्थ वित्त आयोग क राशि स वार्ड मे पार्षद क अनुशंसा पर योजना चलाउल जाएत। कोनो आन राज्य मे एकर बाद पार्षद योजना प्रस्तुत करबा मे जुटि जइतथि, मुदा नकारात्मक राजनीति क लत एहन जे दरभंगा क पार्षद राशि कए बढ़ाकए दस लाख करबा लेल हंगामा शुरू क देलथि। किछु काल पहिने साढ़े छह लाख टका हुनका लेल बहुत छल आ एतबा पैघ रकम कोना आउत एकर चिंता छल, मुदा स्रोत भेटला पर चट दस लाख करबाक मांग करब मात्र टंगघिुच्चा राजनीति कहल जा सकैत अछि। टंगघिुच्चा राजनीति क अंत एहि ठाम नहि भेल। एहन एकटा मामला नहि अछि। कईटा अछि। कचरा रखबाक लेल जमीन कीनबाक मामला उठल त चट द एकटा पार्षद युग-युग स रटायल आरोप लगबैत कहला जे भूमि कीनबा मे घोटाला होएत। विधायक हुनका जिम्मेदारी क ज्ञान दैत पूछलथि जे इ फैसला अहीं करू जे जमीनक व्यवस्था कोना कैल जाएत। माथ पर जिम्मेदारी अबैत पार्षद क होश ठेकान पर आबि गेल आ चुप भ मुंह नुका लेलथि। एकटा सदस्य पूछला जे वार्ड नं. 21 मे सोलर लाइट कोन योजना स लागल। सवाल स बुझना गेल जे इ अपन वार्ड लेल चिंतित छथि। मेयर उत्तर दैत कहला जे नवाचार योजना क तहत वार्ड नं. 21 मे लाइट लागल अछि। एतबा सुनैत पार्षद तमसा गेलाह। विधायक सरावगी एहि पर हस्तक्षेप करैत कहला जे डीएम कए एक करोड़ भेटल छल। वार्ड नं. 21 क पार्षद क विशेष पहल पर नवाचार योजना स राशि देल गेल। वार्ड सेहो 20 प्रतिशत मार्जिन मनी जमा करैत अछि। एहि पर पार्षद रमेश झा विधायक पर चढ़ि बैसलाह। कहला जे बिना नगर आयुक्त क मार्जिन मनी जमा कोना भेल। विधायक चुप्प भ गेलाह। मुदा असली सवाल ठार रहल जे योजना क संबंध मे पार्षद कए जानकारी कोना भेटत। दोसर जे इ संस्कृति कहिया पनपत जे कोनो पार्षद अपन वार्ड लेल अगर सरकार स अतिरिक्त आवंटन करा लैत छथि त आन पार्षद कए हुनका स सीखबाक चाही नहि कि हुनकर विरोध हेबाक चाही। मुदा टंगघिुच्चा राजनीति एहन करबा लेल ककरो प्ररित नहि करैत अछि। लोकतंत्र मे जनप्रतिनिधि शासक वर्ग होइत अछि, ओकर विजन समाज क विकास कए गति दैत अछि। विजनविहीन जनप्रतिनिधि स विकास क उम्मीद नहि कैल जा सकैत अछि। नगर निगम क उदाहरण एहि कारण महत्वपूर्ण अछि जे इ सबस छोट इकाई छी। जे समाज एकटा विजन वाला वार्ड पार्षद क चुनाव नहि क सकैत अछि ओ विधायक आ सांसद क चुनाव केतबा गंभीरता स करत। दोसर गप जे जनप्रतिनिधि एकटा वार्ड लेल विकास योजना नहि तैयार क सकैत छथि ओ शहर जिला या राज्य लेल आगू जा कए कोन योजना तैयार क सकताह, किया त बहुत राष्टÑीय नेता अपन राजनीतिक जीवन वार्ड पार्षद क रूप मे शुरू केने छथि। राजनीतिक गंभीरता आ दूरदर्शिता क शुरुआत छोट इकाई स करबाक इ सही समय अछि। त आउ पंचायत आ वार्ड स्तर पर राजनीतिक परिवर्तनक शुभारंभ करि।

इ-समाद, इपेपर, दरभंगा, बिहार, मिथिला, मिथिला समाचार, मिथिला समाद, मैथिली समाचार, bhagalpur, bihar news, darbhanga, Hawai seva, latest bihar news, latest maithili news, latest mithila news, maithili news, maithili newspaper, mithila news, patna, saharsa

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments