इपत्रिका क रूप मे सेहो अंतिका

नई दिल्‍ली। मैथिलीक व्‍यावसायिक रूप स सफल पहिल पत्रिका अंतिका आब नेट पर सदेह उपस्थित भ गेल अछि। पिछला कई साल स मैथिली साहित्‍य कए खाद आ जल दैत इ पत्रिका अपन लोकप्रियता कए कायम रखने अछि। इंटरनेट पर बढैत पाठक आ अंतिका क पहुंच कए विश्‍वस्‍तर पर बढेबा लेल आब एकरा वेब पर सेहो उपलब्‍ध कैल गेल अछि। अंतिका क संपादक गौरीनाथ जी एहि संबंध मे इसमाद कए जानकारी दैत कहला जे तत्‍काल मात्र नव अंक पीडीएफ फार्म मे देल जा रहल अछि। धीरे-धीरे पहिला सबटा अंक सेहो पीडीएफ फार्म मे पाइक लोकनिक सोझा आबि जायत। अंतिका पढबा लेल लिंक क उपयोग कए सकैत छी। http://www.antika-prakashan.com/2011/05/blog-post.html

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments