आखिर बंद भ जाएत मुजफ्फरपुर क साई सैग सेंटर

मुजफ्फरपुर। उत्तर बिहार क खिलाडी कए राष्ट्रीय स्तर क खिलाड़ी बनेबा लेल पंडित नेहरु स्टेडियम मे स्थापित साई सैग सेंटर एक अप्रैल स बंद भ जाएत। भारतीय खेल प्राधिकरण सेंटर कए समेटबा क तैयारी शुरू क देलक अछि । हालांकि, वर्ष 2007 स एहि सेंटर मे आवासीय प्रशिक्षण बंद अछि। वर्तमान मे एहि ठाम मात्र वूशू आ कबड्डी क एक दर्जन खिलाड़ी गैर आवासीय प्रशिक्षण ल रहल छथि । एहि सेंटर कए बंद भेला स एहि खिलाडी सब कए आब पटना जेबा लेल मजबूर कैल जा रहल अछि। गौरतलब अछि जे वर्ष 2000 मे राजग शासनकाल क दौरान मुजफ्फरपुर समेत राज्य क तीनटा स्थान पर तत्कालीन केंद्रीय मंत्री शहनवाज हुसैन क प्रयास स साई सेंटर क स्थापना कैल गेल छल । मुजफ्फरपुर मे सिकंदरपुर स्थित पंडित नेहरु स्टेडियम मे 11 सितंबर, 2000 कए सेंटर क उद्घाटन कैल गेल छल। आरंभ मे एहि ठाम फुटबाल, एथलेटिक्स, कबड्डी आ वॉलीबॉल क आवासीय प्रशिक्षण क व्यवस्था छल। बाद मे वॉलीबॉल हटा लेल गेल। चारि वर्ष तक सेंटर ठीक-ठीक चलल। एकर बाद सेंटर कए ग्रहण लगब शुरू भ गेल। स्थानीय खेल संगठन स टकराव एकर पैघ कारण रहल। एहि क्रम मे मेस क सवाल पर सेंटर मे जमिकए हंगामा भेल। तखन पहिने मेस बंद भेल आ बाद मे आवासीय प्रशिक्षण । दिसंबर 2007 मे बाबा रामदेव क कार्यक्रम क दौरान सेंटर क निरीक्षण करबा लेल आयल साई क अधिकारी सेंटर कए बंद करबाक निर्देश देलथि। मुदा, विरोध क बाद गैर आवासीय प्रशिक्षण क व्यवस्था कए जारी राखल गेल । मुदा आब ओकरा सेहो बंद करबाक पत्र आबि गेल अछि। राज्य क कला, संस्कृति आ युवा विभाग क एकटा अधिकारी कहला अछि जे पटना कए छोडि बिहार मे स्थापित तीनू अन्य सेंटर कए बंद करबा संबंधी पत्र भेट चुकल अछि। दोसर दिस मुजफ्फरपुर क सेंटर प्रभारी एकर आधिकारिक रूप स पुष्टि क देलथि अछि जे सेंटर एक अप्रैल स बंद भ जाएत। साई सेंटर क प्रभारी बीके गौन कहला जे सेंटर कए बंद करबा लेल आधिकारिक पत्र प्राप्त भ गेल अछि। सेंटर बंद भेलाक बाद किछु खिलाडी कए पटना स निबंधित क देल गेल अछि जखन कि किछु खिलाडी लेल एखन कोनो निर्देश नहि अछि। ओ कहला जे पटना मे आवासीय सुविधा नहि रहलाह स खिलाडी कए परेशानी होएत। हुनक कहब अछि जे सेंटर बंद करबाक पाछु कारण इ अछि जे सरकार स एकरा एमओयू नहि भेटल।
maithili news, mithila news, bihar news, latest bihar news, latest mithila news, latest maithili news, maithili newspaper, darbhanga, patna, दरभंगा, मिथिला, मिथिला समाचार, मैथिली समाचार, बिहार, मिथिला समाद, इ-समाद, इपेपर

नीक वा अधलाह - ज़रूर कहू जे मोन होय

comments